Aug 08 2022 / 6:07 AM

बंगाल को एनआरसी की जरूरत नहीं है, राज्य में नहीं होगी लागू: ममता बनर्जी

सिलीगुड़ी। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य के लोगों को आश्वासन देते हुए कहा कि बंगाल में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्ट्रार लागू नहीं किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा, एनआरसी इस शांति को खत्म करके रख देगी। मैं इसका पुरजोर विरोध करती हूं। हमारी सरकार आपके साथ थी और हमेशा आपके साथ रहेगी। उन्होंने कहा कि जब हम इस देश में मतदान कर रहे हैं। तो यहां रहना भी हमारा लोकतांत्रिक अधिकार है।

किसी नागरिक को कोई भी उसके प्रदेश से नहीं निकाल सकता है। बनर्जी ने कहा, बंगाल को एनआरसी की जरूरत नहीं है। यह यहां पर लागू नहीं होगी। मैं सभी धर्मों में विश्वास करती हूं। किसी भी नागरिक को अपना देश नहीं छोड़ना होगा। फिर वो चाहे बंगाली हो या फिर किसी और धर्म का।

बनर्जी ने बंगाल की धार्मिक और सांस्कृतिक विविधता की बात कही। उन्होंने कहा,‘‘चाहे वह काजी नजरुल इस्लाम हों या रवींद्रनाथ टैगोर, पंचन बर्मा, स्वामी विवेकानंद, श्रीरामकृष्णा, ईश्वरचंद्र विद्यासागर या फिर राजा राममोहन राय, नेताजी सुभाष चंद्र बोस और बिरसा मुंडा हों बंगाल हमेशा गौरवशाली परंपराओं की भूमि रहा है।’’ उन्होंने बंगाल में दुर्गा पूजा के दौरान प्रदर्शित एकता और उत्सव की भावना की भी सराहना की।

बनर्जी ने कहा, ‘‘देश भर में जहां बेरोजगारी दर 45 फीसदी है वहीं बंगाल में रोजगार दर में 40 फीसदी बढ़ोत्तरी हुई है। यह संकेत है कि बंगाल अन्य राज्यों से काफी अच्छा प्रदर्शन कर रहा है। कुछ लोग मजाक उड़ाते थे और कहते थे कि बंगाल अब वैज्ञानिक नहीं दे सकता और अभी तीन दिन पहले ही अर्थशास्त्र में जिसे नोबेल पुरस्कार मिला वह बंगाल के ही रहने वाले हैं।’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि बंगाल एक दिन दुनिया को प्रगति की राह दिखाएगा।

Share with

INDORE