इंदौर में 18 कोरोना पॉजिटिव और कुल 915 हुए, कोई नई मौत नही

इंदौर। इंदौर में आज कोरोना पॉजिटिव मामले में आज लगातार तीसरे दिन राहत रही। आज भी सिर्फ 18 नए पॉजिटिव आए जिससे कुल पॉजिटिव 915 हो गए। कल 7 व परसों 9 पॉजिटिव आए थे। आज किसी की मौत की खबर नहीं है। कुल मौत का आंकड़ा 52 पर स्थिर है।

सीएमएचओ डॉ प्रवीण जड़िया के मुताबिक जारी रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई।


केंद्रीय दल ने कहा इंदौर में लॉक डाउन का सख्ती से हो पालन
इधर भारत सरकार द्वारा कोरोना वायरस के संबंध में गठित केन्द्रीय दल आज इंदौर आया। इस दल में अतिरिक्त सचिव भारत सरकार अभिलक्ष्य लिखी, विभागाध्यक्ष मेडिकल डॉ.जुगलकिशोर, संचालक स्वास्थ्य डॉ.अनिल रंगा, एमडीएमए के संयुक्त सलाहकार नवल प्रकाश, संचालक खाद्य भारत सरकार सिमरजीत कौर शामिल हैं।

दल ने आज रेसीडेंसी के सभाकक्ष में अतिरिक्त सचिव भारत सरकार अभिलक्ष्य लिखी की अध्यक्षता में इंदौर के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में दल के सदस्यों के साथ ही संभागायुक्त आकाश त्रिपाठी, आईजी विवेक शर्मा, कलेक्टर मनीष सिंह, डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्रा, नगर निगम आयुक्त आशीष सिंह, जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी नेहा मीना, मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ.ज्योति बिंदल सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

बैठक में अभिलक्ष्य लिखी ने कहा कि कोरोना एक विश्वव्यापी महामारी है। इस महामारी से निपटने के लिये समन्वित प्रयासों की जरूरत है। सभी मिलकर इस महामारी से निपटने के लिये कारगर प्रयास कर रहे हैं। भारत सरकार द्वारा समय-समय पर दिये गये दिशा-निर्देशों, गाइड लाईन आदि के प्रावधानों का पालन भी कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इंदौर में भी सबके प्रयासों से मिलकर इस महामारी से निपटने के लिये की जा रही व्यवस्थाओं को और अधिक सुदृढ़ और कारगर बनाया जायेगा।

उन्होंने कहा कि लॉकडाउन का सख्ती से पालन सुनिश्चित कराया जाये। इंदौर में दिशा-निर्देशा और गाईड लाईन को अमलीजामा पहनाने के लिये कदम उठाये गये हैं। उन्होंने बैठक में लॉकडाउन के पालन, किराना, राशन, दवाइयाँ तथा अन्य अत्यावश्यक वस्तुओं की उपलब्धता और वितरण, स्वास्थ्य सेवाएँ, कोरोना से निपटने के लिये किये गये स्वास्थ्य प्रबंध, सोशल डिस्टेंसिंग तथा प्रवासी मजदूरों के लिये की गयी व्यवस्थाओं की जानकारी ली।

बैठक में संभागायुक्त आकाश त्रिपाठी ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान दवाइयों की दुकान, दूध वितरण तथा अत्यावश्यक वस्तुओं की होम डिलेवरी पर छूट दी गयी है। जरूरतमंदों को नि:शुल्क राशन वितरण किया जा रहा है तथा अन्य जरूरतमंदों को भोजन के पैकेट दिये जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि कंटेनमेंट एरिया में घर-घर जाकर सर्वे करने का कार्य लगभग पूरा हो गया है।

अब फॉलोअप की प्रकिया चल रही है। सर्वे के दौरान लक्षण दिखाई देने पर वहीं पर सैम्पल लिये जा रहे हैं। होम कोरनटाईन के अलावा संस्थागत कोरनटाईन भी किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि प्रवासी मजदूरों को राधास्वामी सत्संग परिसर सहित अन्य स्थानों पर ठहराया गया है, उनके भोजन-पानी आदि की व्यवस्था की गयी है। हेल्प लाईन नम्बर भी जारी किया गया है।

कलेक्टर मनीष सिंह ने कहा कि इंदौर में दवाइयों की दुकानें खोलने की व्यवस्था की गयी है। घर-घर राशन वितरण की व्यवस्था की गयी है। कॉम्वोपैक के माध्यम से भी राशन दिया जा रहा है। बैंकों को निर्धारित शर्तों पर आंतरिक कार्यों के लिये छूट दी गयी है। बैंकों में कुछ जरूरी संस्थाओं को लेन-देन के लिये अनुमति है। मरीजों को निर्धारित दस्तावेज दिखाने पर अस्पताल तक जाने की भी छूट है।

श्री मनीष सिंह ने बताया कि घर-घर जाकर स्वास्थ्य सर्वे के लिये अभी केंटेनमेंट एरिया के साथ ही उसके आस-पास के क्षेत्र को भी लिया गया है। अब इसको और अधिक विस्तारित किया जा रहा है। आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, एएनएम, डॉक्टर्स आदि को इसकी जबावदारी दी गयी है। कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि जिले में कोरोना से निपटने के लिये पर्याप्त संसाधन हैं। पीपीई कीट भी पर्याप्त संख्या में मिल रही है। पीपीई कीट यहीं बनवाने की व्यवस्था की जा रही है।

आईजी विवेक शर्मा ने सुरक्षा प्रबंधों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कंटेनमेंट एरिया में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गये हैं। यहाँ निगरानी के लिये सीसीटीवी तथा ड्रोन कैमरे के माध्यम से विशेष व्यवस्था की गयी है। शहर के सर्वाधिक प्रभावित झण्डा चौक, चंदन नगर, आजाद नगर और खजराना में कन्ट्रोल रूम बनाकर उक्त साधनों के माध्यम से सघन निगरानी की जा रही है।

पब्लिक एड्रेसिंग सिस्टम के माध्यम से नागरिकों के वेबजह घूमने तथा भीड़ नियंत्रण पर कार्य किया जा रहा है। उल्लंघनकर्ता के विरूद्ध कार्यवाही की जा रही है। उन्होंने बताया कि शहर की सीमाओं पर नाकेबंदी कर इंदौर से बाहर जाने तथा बाहर से इंदौर आने पर रोक लगायी गयी है। सुरक्षा प्रबंधों में नगर सुरक्षा समिति, ग्राम सुरक्षा समिति, वन रक्षक और आबकारी विभागों की मदद भी ली जा रही है।

अस्पतालों की सुरक्षा पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है। ड्युटी पर तैनात पुलिस के आवास के लिये होटल, मैरिज गार्डन, धर्मशाला आदि में पृथक से व्यवस्था की गयी है। पुलिस के लिये पर्याप्त संख्या में पीपीई कीट और अन्य जरूरी साधन दिये जा रहे हैं। पुलिस की व्यवस्था में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा रहा है।

केन्द्रीय दल ने पुलिस कन्ट्रोल रूम तथा जिला प्रशासन द्वारा कार्पोरेट हाउस में में बनाये गये कन्ट्रोल रूम तथा विभिन्न जनसमस्या के निराकरण के लिये एआईसीटीएसएल में गठित हेल्पलाईन सेंटर का भी निरीक्षण किया। पुलिस कन्ट्रोल रूम के निरीक्षण के दौरान आईजी श्री विवेक शर्मा ने पुलिस कन्ट्रोल रूम की व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी दी।

कार्पोरेट हाउस के कन्ट्रोल रूम के संबंध में नोडल अधिकारी चन्द्रमौली शुक्ला ने बताया । उन्होंने जानकारी दी कि यह कन्ट्रोल रूम ग्रीन और यलो हॉस्पिटल के बीच समन्वय आदि के लिये सुचारू रूप से कार्य कर रहा है।

दिल्ली से आया केंद्रीय दल

Spread the love

इंदौर