इंदौर में हुई करीब 2 इंच बारिश, मौसम विभाग ने दी और भारी वर्षा की चेतावनी, प्रदेश में भी जोरदार बारिश जारी

इंदौर। इंदौर में शनिवार को मेघ फिर जमकर बरसे। शनिवार रात साढ़े आठ बजे तक करीब 2 इंच बारिश (44 मिमी) हो चुकी है। इंडो में अभी तक लगभग 35 इंच बारिश हो गई है।

मौसम विभाग ने अभी आगे और भारी वर्षा की चेतावनी है। प्रदेश में अधिकांश जिलों में जोरदार बारिश जारी है। होशंगाबाद व नर्मदा किनारे वाले अनेक हिस्सों में बाढ़ के हालात है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हेलीकॉप्टर से बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा किया।

मौसम विभाग द्वारा आगामी दिवसों में अतिवृष्टि की संभावना व्यक्त की गई है। जिसके मद्देनजर संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा ने इंदौर संभाग के सभी जिलों को अलर्ट रहने तथा सभी आवश्यक तैयारियां रखने के निर्देश दिये हैं।

संभागायुक्त ने संभाग के कलेक्टर्स को निर्देश दिये हैं कि अतिवृष्टि से प्रभावित होने वाली जनता के लिये राहत शिविर बनाये जायें तथा इन राहत शिविर में भोजन, पेयजल आदि समस्त मूलभूत सुविधाएं मुहैया कराई जाये।

इंदौर में भी सतर्कता बरतने के निर्देश

इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया है कि इन्दौर ज़िले में भारी वर्षा की चेतावनी प्राप्त हुई है, उसके मद्देनज़र राजस्व प्रशासन को अलर्ट पर रखा गया है। सभी नगरीय निकायों में निर्देश दिए गए हैं कि नगरों में कहीं पर भी जल जमाव की स्थिति निर्मित नहीं होनी चाहिए, वहीं वर्षाकाल में किसानों को फ़सल के संबंध में कृषि विभाग द्वारा सलाह दी गई है। उन्होंने बताया कि किसानों के लिये खरीफ फसल के लिये बीमा कराने की अंतिम तिथि 31 अगस्त तक है। अधिक से अधिक किसान अपनी फसल का बीमा करा सकें, इसलिये फ़सल बीमा के लिए रविवार को भी कार्य दिवस घोषित किया गया है।

खेड़ी घाट स्थित दुकानदारों को भी वहां से हटाने के निर्देश

संभाग के खण्डवा जिले में नर्मदा नदी के के चमेट क्षेत्र में लगातार बढ़ते जल स्तर को ध्यान में रखते हुए नर्मदा तट पर स्थित ग्रामों के निवासियों को सुरक्षित स्थानों में भेजने के निर्देश कलेक्टर अनय द्विवेदी ने दिए है।

उन्होंने नर्मदा के किनारे पर स्थित मोरटक्का व खेड़ी घाट स्थित दुकानदारों को भी वहां से हटाने के निर्देश दिए है। इंदिरा सागर बांध के 20 गेट तथा ओंकारेश्वर सागर बांध के 23 गेट खोल दिए गए है। सायं 6 बजे ओंकारेश्वर बांध से 30 हजार क्यूमेक्स पानी डिस्चार्ज होने लगा है तथा रात्रि 9 बजे से 35 हजार क्यूमेक्स पानी डिस्चार्ज किया जायेगा।


मोरटक्का पुल के साथ-साथ इंदिरा सागर बांध के पास से गुजरने वाले भोपाल रोड पर वाहनों का आवागमन प्रतिबंधित कर दिया गया है।

खरगोन जिले में आज लगभग दिन-भर फुहार और रिमझिम बारिश होती रही। मोरटक्का स्थित पुल से आवागमन सुबह करीब साढ़े 11 बजे से बंद कर दिया गया है। महेश्वर में किला स्थित घाट पर अभी खतरे के निशान से 2 मीटर से पानी नीचे है। जिले में कही भी राहत और बचाव कार्य जैसी स्थिति निर्मित नही हुई है।

बुरहानपुर जिले में आज सुबह से ही हल्की बारिश हो रही है जो निरंतर जारी हैं। इससे यहां ताप्ती नदी में जलस्तर बढ़ रहा है।

संभावित जलभराव वाले स्थलों पर जिला प्रशासन की टीम, लगातार निगरानी कर रही है। जिले में कहीं पर भी बाढ़ जैसी या किसी प्रकार की कोई विपरीत परिस्थिति नही बनी है। राजघाट पर यातायात बंद करवा दिया गया है।

वहीं संभाग के अलीराजपुर और झाबुआ जिले में आज मौसम साफ रहा। बादल छाए हुए थे। दिन में एक-दो बार हल्की फुहार हुई। इसी तरह बड़वानी और धार जिले में भी आज मौसम साफ रहा, अत: किसी भी क्षेत्र में बाढ़ एवं आपदा की स्थिति नहीं है।

पुनासा डेम , गेट खुलने के बाद का वीडियो

Spread the love

17

इंदौर