हाई कोर्ट की फटकार लगते ही एसिड अटैक पीड़ित का चेक आ गया

इंदौर। हाई कोर्ट पूर्व में आदेश कर चुकी थी, इसके बावजूद तकरीबन 5 माह से एसिड अटैक पीड़ित को एक लाख की सहायता राशि नही मिल पा रही थी। सोमवार को हुई सुनवाई के दौरान जब यह बात सामने आई और कोर्ट ने फटकार लगाई तो कुछ ही देर में उक्त राशि का चेक बनकर आ गया। एसिड अटैक पीड़ित नन्दलाल को सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार मिलने वाली सहायता राशि मे से डेढ़ लाख तो मिल गए लेकिन कोर्ट के आदेश के बावजूद शेष एक लाख की राशि नही दी जा रही थी। जस्टिस एससी शर्मा की बेंच में नन्दलाल की ओर से एडवोकेट शन्नो शगुफ्ता खान ने आज हुई सुनवाई के दौरान 5 माह से ये मामला अटका होने की जानकारी दी। इस पर नाराजगी जताते हुए कोर्ट ने ट्रेजरी अधिकारी को तत्काल बुलाने के निर्देश दिए। इसका असर यह हुआ कि कुछ ही देर बाद उक्त एक लाख का चेक बनकर आ गया और कोर्ट के समक्ष प्रस्तुत भी कर दिया गया। शेष राशि के लिए पीड़ित का मेडिकल बोर्ड के समक्ष16 जुलाई को मेडिकल परीक्षण होगा, उसके बाद यह राशि तय होगी। उल्लेखनीय हैं कि एरोड्रम थाना क्षेत्र के गांधीनगर में 2 महिलाओं ने नन्दलाल पर एसिड अटैक किया जिसमें उसका चेहरा बुरी तरह झुलस गया था।

जमानत तीसरी बार खारिज़

एक अन्य एसिड अटैक केस में आरोपो अरुण की जमानत अर्जी तीसरी बार जस्टिस रोहित आर्या की बेंच ने खारिज कर दी। बाणगंगा क्षेत्र की यशोदा पर उक्त आरोपी द्वारा एसिड अटैक किया गया था। तब से ही वह जेल में है।

Spread the love

इंदौर