इंदौर में पत्नी की हत्या के बाद सांप के दाँत चुभाए ताकि दुर्घटना लगे, पति, ननद व ससुर गिरफ्तार

अलवर, राजस्थान से 5 हजार में ख़रीद कर लाया था कोबरा साँप, 11 दिन सांप को अलमारी में बन्द रखा


इंदौर। इंदौर में अजीब घटना सामने आई जिसमें पत्नी की हत्या के बाद उसके शरीर पर सांप के दाँत चुभाए ताकि मामला दुर्घटना का लगे। पुलिस ने अंधे कत्ल का पर्दाफाश कर आरोपी पति, ननद व ससुर को गिरफ्तार कर लिया।

परिवारिक रिश्तो मे खटास की वजह से इसे अंजाम दिया गया। आरोपियों के नाम अमितेश पिता ओमप्रकाश पटेरिया उम्र 36 साल निवासी 215 संचार नगर एक्सटेंशन इन्दौर है जो मृतका का पति है और एक्सीस बैंक दिल्ली मे मैनेजर के पद पर कार्यरत था।

दूसरी आरोपी रिचा चतुर्वेदी पति मनीष चतुर्वेदी उम्र 38 साल निवासी 15 अशोक वाटीका राऊ जिला इन्दौर चैन नेटवर्किंग का काम करती है जो मृतका की ननद है और ओमप्रकाश पटेरिया पिता स्व. सीताराम पटेरिया उम्र 73 साल है जो मृतका का श्वसुर है। वह एक्सजूकिटिव इंजीनीयर के पद से जल संसाधन विभाग से रिटायर हुआ है।

एएसपी शैलेन्द्र सिंह चौहान ने बताया कि गत एक दिसम्बर को शिवानी पटेरिया पति अमितेश पटेरिया उम्र 35 साल को मृत अवस्था मे उसका पति अमितेश एवं किरायेदार निखिल लेकर एमवाय अस्पताल पहुचे और साँप के काटने से उसकी मृत्यु होना बताया ।


छानबीन में संदेह हुआ

छानबीन के दौरान घटना स्थल का निरीक्षण किया गया जहाँ पर बरामदे में एक मरा हुआ सांप पाया गया। बेड पर बिछी बेड शीट आधे पलंग पर गुडी-मुडी पाई गई जिसमे सोने जैसी धातु का नाक का एक काटा मिला तथा तकिये का कवर दोनो पर स्लाईवा जैसे धब्बे प्रतित हो रहे है, जिन्हे जप्त किया गया।

एमवाय मेंलाश के पंचायत नामा में उल्लेख किया गया कि मृतिका के बाये हाथ मे तीन स्थानो पर काले हरे निशान तथा दाहिनी आँख के नीचे चोट (एब्रेशन) है तथा मृतिका के दोनो पैर के पंजे नीचे की ओर खींचे है। दोनो हाथो के अंगुठे अंदर किये हुए मुट्ठीयाँ बंद है । मृतिका के दोनो नथुनो के बाहरी किनारो पर रेडिस होकर नथुनो कि चमडी छीली है ।

मृतिका के फोटो ग्राफ कराये गये तथा पीएम फार्म भरकर मृतिका का पीएम डाक्टरो कि टीम से कराया गया । जाँच के दौरान मृतिका के पति अमितेश पटेरिया, पिता आनन्द कुमार , माता उर्मिला दीक्षित तथा मृतिका का चचेरा भाई रविकांत दीक्षित तथा किरायेदार निखिल कुमार खत्री के कथन लेख किये गये । जिन्होने अपने कथनो मे बताया कि मृतिका तथा उसके पति अमितेश के बीच पिछले तीन चार वर्षो से झगडे चल रहे है ।

दिनांक 29/11/19 को अमितेश की बहन रिचा मृतिका के घर आई थी यहाँ से अमितेश मृतिका और उसके बच्चे वैदिका और वैदिक मृतिका की नंनद के साथ उसके घर राऊ गये थे रात वही रुके तथा वहाँ से 01/12/19 को सुबह 10 बजे संचार नगर मृतिका अमितेश , वैदिका , वैदिक , रिचा व उसके बच्चे संचार नगर आये । जहाँ से रिचा ने अपने बच्चो के साथ मृतिका के बच्चो को घूमने भेजा तथा मृतिका के ससुर भी घूमने चले गये ।

उसके बाद रिचा भी अपने घर चली गई थी । घर मे पति पत्नि अकेले थे। तत्पश्चात चार साढ़े चार बजे अमितेश ने निखिल को आवाज देकर बुलाया के देख तेरी भाभी को सांप ने काट लिया , निखिल ने देखा कि शिवानी बैड पर चित्त हालत मे पडी है तथा उसके पास मे एक सांप पडा है जिसे उसने गुप्ता की मदद से स्टंप से हटा कर वही रखे बेट से मारा तथा मृतिका को अस्पताल ले गये ।

जाँच के दौरान मृतिका कि शार्ट पीएम रिपोर्ट प्राप्त कि गई जिसमे उसकी मृत्यु दम घुटने (आस्पीसीया) से होना पाई गई । ( DEATH WAS DUE TO ASPHYXIA AS A RESULT OF SMOTHERING )।

यह निकला जांच में
मर्ग जाँच मे पाया गया कि मृतिका के पति अमितेश तथा उसकी बहन रिचा व्दारा षडयंत्र पूर्वक शिवानी की हत्या की गई जिसमे अमितेश के पिता भी शामिल है। आरोप है कि अमितेश ने ही तकिए से मुंह दबाकर पत्नी की हत्या की थी। पुलिस को गुमराह करने के लिए उसने एक महीने पहले प्लानिंग की और फिर राजस्थान से खरीदकर लाये गए कोबरा सांप का चिमटे से मुंह पकड़कर पत्नी के हाथ पर कटवा दिया ताकि बता सके कि सांप काटने से मौत हुई। बताते हैं कि अमितेश का दिल्ली में ही बैंक में काम करने वाली युवती से अफेयर चल रहा था। इसलिए वह शिवानी को रास्ते से हटाने के बारे में सोच रहा था। उक्त मामले को सुलझाने में थाना प्रभारी कनाडिया अनिल सिंह चौहान व उनकी टीम उनि अविनाश नागर,सउनि नितिन कुमार भालेराव,सउनि विजय सिंह चौहान, आर. विनोद यादव, आर. जिशान एहमद कि सराहनीय भूमिका रही ।

Spread the love

इंदौर