अयोध्या फैसले के बाद औवेसी द्वारा ‘खैरात’ कहे जाने के खिलाफ इंदौर के वकील द्वारा सुप्रीम कोर्ट में पत्र याचिका

इंदौर। अयोध्या मामले में आए फैसले के बाद विवादास्पद बयान देने वाले हैदराबाद के सांसद असुद्दीन औवेसी के विरुद्ध इंदौर के एक एडवोकेट सुनील वर्मा द्वारा सुप्रीम कोर्ट को पत्र याचिका भेजी जा रही है ।


इसमें उनके विरुद्ध सुप्रीम कोर्ट की अवमानना व साम्प्रदायिक विद्वेष फैलाने की धाराओं में मामला दर्ज करने की गुहार की गई है । कोर्ट द्वारा मुस्लिम समाज को अयोध्या में ही वैकल्पिक स्थान पर पांच एकड़ जमीन दिए जाने के निर्णय पर औबेसी ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा था कि मुस्लिम समाज को खैरात में यह जमीन नहीं चाहिए। हिंदुस्तान का मुसलमान इतना गिरा हुआ नहीं है कि भीख में पांच एकड़ जमीन लेगा। इसके अतिरिक्त भी उनके द्वारा अन्य कई विवादित टिप्पणियां की गईं।

एडवोकेट वर्मा ने कहा कि उनके द्वारा इस तरह के शब्दों का प्रयोग शीर्ष कोर्ट की अवमानना ही नहीं बल्कि इससे साम्प्रदायिक विद्वेष फैलने का भी खतरा उत्पन्न होता है। इन्ही बिंदुओं के आधार पर सुप्रीम कोर्ट में पत्र याचिका दायर भेजी जा रही है वही सोमवार को इंदौर कोर्ट में निजी परिवाद दायर किया जाएगा जिसमें ओवैसी के विरुद्ध मामला दर्ज करने की गुहार की जाएगी।

Spread the love

6

इंदौर