बजरंगी ने जेल में मोटा कहा तो मार डाला

आरोपी सुनील राठी की कहानी पुलिस के गले नहीं उतर रही

बागपत। गत सोमवार को कुख्‍यात गैंगस्‍टर मुन्‍ना बजरंगी उर्फ प्रेम प्रकाश की जेल में हत्‍या केआरोपी गैंगस्‍टर सुनील राठी ने जो कहानी बताई है वह पुलिस के गले नही उतर रही है। राठी का कहना है कि ‘मोटा’ कहे जाने को लेकर शुरू हुए विवाद में उसने मुन्‍ना बजरंगी को गोलियां चलाकर मार डाला।

हत्‍याकांड के बाद पुलिस को दिए बयान में राठी ने कहा कि बजरंगी और उसके बीच इसी बात को लेकर बहस शुरू हुई थी, जो इतनी बढ़ गई कि उसने बंदूक की सभी गोलियां उस पर चला दी। राठी ने यह भी कहा कि यह बंदूक उसने बजरंगी से ही छीनी थी और उसे गिराकर काबू करने के बाद उस पर सभी गोलियां उतार दीं।

अंग्रेजी अखबार ‘टाइम्‍स ऑफ इंडिया’ के अनुसार, राठी ने कहा कि जब वह सुबह टहलने के लिए निकला तो उसका सामना मुन्‍ना बजरंगी से हुआ, जिसने देखते ही कहा कि वह ‘मोटा’ दिख रहा है। पर यह बात उसे पसंद नहीं आई और उसने कहा कि ‘पहले खुद को देखो।’इसके बाद दोनों के बीच बहस बढ़ गई। राठी का कहना है कि इसी बीच बजरंगी ने अपनी माउजर बंदूक उस पर तान दी। इससे पहले कि बजरंगी कुछ कर पाता, राठी ने बंदूक उससे छीन ली और उसे दबोचकर सारी गोलियां उस पर उतार दी हालांकि इस मामूली बात पर हत्‍या की यह बात पुलिस के गले नहीं उतर रही है।

इस मामले में गवाहों की बयानी भी कुछ अलग ही है। घटना की जांच से जुड़े एक अधिकारी ने गवाहों के हवाले से बताया कि राठी ने ‘आइसोलेशन सेल’ के बाहर बने गार्डन में टहलते हुए अकारण ही गोलियां चलानी शुरू कर दी थी।

पुलिस का यह भी कहना है कि राठी ने बजरंगी के सिर में सभी गोलियां मारीं, जिससे लगता है कि वह किसी भी हालत में उसे जिंदा नहीं रहने देना चाहता था। गौरतलब है कि बजरंगी की पत्नी ने रक सप्ताह पहले ही जेल में उसके पति की हत्या की आशंका जता दी थी। इस आधार पर पुलिस।मानकर चल रही है कि हत्या के पीछे की कहानी कुछ और हे।

Spread the love

14

इंदौर