भय्यू महाराज ने कह दिया था. गोली मार लूंगा

इंदौर। एक पखवाड़े पूर्व सन्त  भैय्यू महाराज द्वारा की गई खुदकुशी मामले में अब यह लगभग स्पष्ट हो गया है कि पारिवारिक तनाव के कारण उन्होंने जान दी। पुलिस द्वारा अभी तक कि गई छानबीन के साथ ही हाल में जो 2 महत्वपूर्ण बिंदु हाथ लगे हैं उससे यह बात पुष्ट हो रही है।

इसमे एक तो पुलिस को मिला गुमनाम पत्र और दूसरा 2 दिन पहले एक पुलिस अफसर से मिला एक शख्स जो भैय्यू महाराज का नज़दीकी मित्र बताया गया है, द्वारा दी गयी जानकारी।

सूत्रों के अनुसार भोपाल से इंदौर आकर भय्यू महाराज के एक करीबी ने पुलिस के एक अफसर से भेंट कर जानकारी कि आत्महत्या से एक महीने पहले अस्पताल में उनकी भय्यू महाराज से मुलाकात हुई थी। तब भय्यू महाराज ने उनसे कहा था कि बेटी कुहू और पत्नी आयुषी के बीच चल रहे तनाव से वे काफी तनाव में हैं।

यह तनाव अब वे सहन नहीं कर पा रहे हैं। वे खुद को गोली मार लेंगे। उक्त करीबी व्यक्ति ने अफसर को है भी बताया कि आत्महत्या के एक माह पूर्व भय्यू महाराज की तबीयत बिगड़ी थी। वे विजय नगर इलाके के एक निजी अस्पताल के आईसीयू में भर्ती थे , तब वे उनसे मिलने पहुंचे थे। उस वक्त भय्यू महाराज की पत्नी भी वहीं थी।

कुछ पल के लिए जब उन्हें अकेले में बात करने का मौका मिला तो महाराज ने उनके सामने पत्नी और बेटी के बीच विवाद का जिक्र करते हुए कहा था कि अब मुझसे तनाव सहन नहीं होता, मैं खुद को गोली मार लूंगा।

गौरतलब है कि इसके पूर्व डीआईजी को एक अनाम पत्र मिला था। उस पत्र और करीबी द्वारा बताई गई बातों में समानता है। बताया जाता है पत्र अनाम है, लेकिन उसे महाराज के बेहद करीबी रहे किसी सेवादार या परिचित ने लिखा है।

महाराज क्या खाते थे, क्या पहनना पसंद करते थे, उनकी पसंद की सब्जी कौन सी थी और वे किन बातों से नाराज और किन बातों से खुश होते थे। इस पत्र में भी पारिवारिक तनाव की बाते कही गयी है। अब आश्रम के कमान उनकी पत्नी डॉ आयुषी को ही सौंपे जाने की संभावना बढ़ गयी हैं क्योंकि उनकी बेटी कुहू पढ़ाई के लिए लन्दन जा रही हैं।

Spread the love

इंदौर