इंदौर में हुए युवती के अंधे कत्ल का पर्दाफाश, खरगोन की युवती को शादी का दवाब बनाने पर प्रेमी ने मार डाला,आरोपी गिरफ्त में

इंदौर। इंदौर में दो दिन पहले हुए युवती के अंधे कत्ल का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है। खरगोन की युवती को शादी का दवाब बनाने पर प्रेमी ने ही मार डाला था। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है।


गिरफ्तार आरोपी का नाम नरेन्द्र सोनी पिता गोपाल सोनी उम्र 28 साल निवासी मकान नंबर पी 19 सुभांजलीपुरम थाना महाराजपुरा ग्वालियर हाल मुकाम रामकृष्ण बाग कालोनी रोबोट को पास खजराना इन्दौर है।


गत एक व दो अगस्त की मध्यरात्रि में खजराना थाना क्षेत्र में राजबाग गार्डन के पीछे बाघेला फार्म हाउस रोड पर बायपास के समीप रोड किनारे एक अज्ञात युवती उम्र करीब 20-25 साल का शव खून से सना हुआ मिला था। उसके गले में अज्ञात आरोपी द्वारा धारदार हथियार से जान से मारने की नियत से वार कर हत्या की गयी।

छानबीन में जानकारी मिली कि उक्त मृतिका खरगोन जिले की रहने वाली थी। इन्दौर में मूसाखेडी में अपने भाई बहन के साथ रहती थी तथा रोटी बनाने का काम करती थी।

मृतिका के संबंध में मूसाखेडी में मकान मालिक से पूछताछ की गयी तो पता चला कि उसके भाई- बहन लाक डाउन में गांव चले गये थे तथा मृतिका अकेली ही मूसाखेडी में रहती थी जो दो तीन दिन से गायब है और यह नरेन्द्र सोनी नाम के लड़के के साथ अक्सर आती जाती है। नरेन्द्र सोनी छावनी में सेठी अस्पताल के पीछ मद्रासआटो सर्विस पर काम करता है ।
उसे पकडा तथा पूछताछ की तो आरोपी नरेन्द्र सोनी ने बताया कि मृतिका से उसके पिछले एक वर्ष से संबंध थे।

आरोपी नरेन्द्र के कार्य स्थल के पास शर्मा टिफिन सेंटर पर मृतिका काम करती थी तभी से दोनो मे पहचान हुई तथा पहचान धीरे धीरे प्यार में बदल गई व दोनो में अंतरंग संबंध हो गये थे।

इसी कारण मृतिका आरोपी नरेन्द्र को शादी करने के लिए दबाब डालती थी। आरोपी नरेन्द्र मृतिका के साथ शादी नहीं करना चाहता था। 28 जुलाई 2020 को मृतिका अपना बैग और सामान लेकर रोबोट चौराहा के पास आरोपी नरेन्द्र के मकान में आ गई थी और साथ रहने के लिए दबाब बना रही थी। आरोपी ने उसे समझाया बुझाया फिर दिनांक एक अगस्त की रात में उसे मोटर सायकिल पर बिठाकर आजाद नगर मूसाखेडी चौराहा , आईटी पार्क , तेजाजीनगर वायपास होते हुए वाघेला फार्म हाउस वाले रास्ते पर ले गया तथा रात में करीब 12 बजे कागज काटने वाले कटर से उसकी गला काट कर उसकी हत्या कर दी और लाश वहीं छोड़ भाग निकला।

उक्त अंधे कत्ल का पर्दाफाश करने में डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्र, पुलिस अधीक्षक (पूर्व) विजय खत्री एएसपी राजेश रघुवंशी एवं नगर पुलिस अधीक्षक खजराना एसकेएस तोमर के निर्देशन में थाना प्रभारी खजराना , तिलकनगर , विजयनगर एवं उनकी टीम तथा सायवर कर्मचारियों का विशेष योगदान रहा।

पुलिस उप महानिरीक्षक इंदौर द्वारा उक्त सराहनीय कार्य करने वाली टीम को 20,000 के नगद पुरस्कार से पुरस्कृत करने की घोषणा की गई है।

Spread the love

12

इंदौर