सीबीआई या अन्य एजेंसी को जा सकती है भैय्यू महाराज की जांच

इंदौर। राष्ट्र संत भैय्यू महाराज द्वारा खुदकुशी मामले में लगभग दस दिन गुजरने के बावजूद पुलिस के हाथ कुछ नहीं लगा है। इसके चलते यह संभावना जताई जा रही है कि इस मामले को जांच के लिए सीबीआई या इसके समकक्ष अन्य जांच एजेंसी को इसकी जांच सौंपी जा सकती है।

गत 12 जून को भैय्यू महाराज द्वारा अपने सिल्वर स्प्रिंग कालोनी स्थितमकान में खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली गई थी। पुलिस मर्ग कायम कर इस बात का पता लगाने में जुटी है कि आखिर उन्होंने आत्महत्या किन कारणों से की। इसके लिए उनके परिवार के लोगों से लेकर सेवादार व अन्य से पूछताछ करने के अलावा सीसीटीवी, कॉल रिकार्डिंग व अन्य आधारों पर मामले की तह तक पहुंचने का प्रयास किया जा रहा है लेकिन फिलहाल कोई ठोस ऐसे तथ्य हाथ नहीं लगे है जिससे यह साफ हो सके कि क्या वजह थी जिसके कारण आध्यामिक संत भैय्यू महाराज को अपनी जान देना पड़ी।

चूंकि अपनी जीवनकाल में भैय्यू महाराज के मप्र ही नही बल्कि महाराष्ट्र से लेकर दिल्ली तक गहरे राजनीतिक ताल्लुकात थे, इसके चलते लगभग हर वर्ग के लाग इस रहस्य को जानना चाहते है कि उनकी खुदकुशी के पीछे का कारण क्या है, इसके चलते उनकी इस मौत के मामले की जांच सीबीआई अथवा अन्य समकक्ष एजेंसी से कराए जाने की मांग भी उठने लगी है। यहां तक कि संघ के नागपुर कार्यालय द्वारा भी इस मामले में जानकारी मांगी गई थी मामला क्या है।

अन्य राज्य में संपर्क के कारण भी पुलिस असहाय भैय्यू महाराज के ताल्लुकात जितने मप्र में थे, उससे कहीं अधिक महाराष्ट्र में थे। संपत्ति व अन्य विवादों की आशंका से जुड़े कई ऐसे बिंदू है जिनकी तह में जाने के लिए महाराष्ट्र में जाकर बारीकि से छानबीन करना आवश्यक है और मप्र पुलिस के लिए इसमें कई व्यवहारिक दिक्कतें आ रही है। जानकार सूत्रों का कहना है कि इसके कारण यह आवश्यक है कि सीबीआई या
अन्य समकक्ष जांच एजेंसी से कराई जाए। इसके चलते संभव है कि राज्य शासनसीबीआई जांच की अनुशंसा कर दे।

Spread the love

इंदौर