इंदौर में सड़े आलू को केमिकल से वाश कर बन रही थी चिप्स, फैक्ट्री पर प्रशासन का छापा, हजारों क्विंटल आलू और केमिकल बरामद

इंदौर। इंदौर में सड़े आलू से चिप्स बनाई जा रही थी। सोमवार को फैक्ट्री पर प्रशासन ने छापा मारकर हजारों क्विंटल आलू और केमिकल बरामद किया।

कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री मनीष सिंह के निर्देशन में मिलावट से मुक्ति अभियान के तहत मिलावटखोरों के विरूद्ध अभियान लगातार जारी है। अभियान के तहत सोमवार को जिला प्रशासन द्वारा गठित दल द्वारा एक और बड़ी कार्यवाही की गई।

एडीएम अभय बेड़ेकर ने बताया कि जिला प्रशासन की टीम द्वारा सांवेर रोड में अवंतिका नगर स्थित साँवरिया फ़ूड प्रॉडक्ट पर छापामार कार्यवाही की गई। कारखाने में प्रवेश करते ही अधिकारी हैरान रह गए। पूरा कारखाना एक अजीब दुर्गंध से भरा हुआ था। यह दुर्गंध सड़े हुए आलूओं की थी जिन्हें केमिकल से वॉश कर चिप्स तैयार की जा रही थी। एसआरडी चिप्स के नाम पर कई फ्लैवर में चिप्स तैयार किया जाता है।

इसके बाद उन्हे पैकिंग कर मार्केट में बिक्री हेतू भेजा जाता है। कारखाने से करीब डेढ़ हजार क्विंटल सड़ा आलू और केमिकल अधिकारियों ने बरामद किया। कारखाने का संचालन रतन कुमावत पिता सुखलाल कुमावत द्वारा किया जा रहा था। कारखाने का मालिक सुखलाल कुमावत है।

सांवरियां फूड पर जिस केमिकल से सड़े गले आलूओं को धोया जा रहा था, वह खाने योग्य नहीं है। यह हाईड्रो पावडर है जिसका उपयोग अन्य कामों के लिए किया जाता है। हाईड्रो पाउडर नॉन एडिबल है जिससे आलू धोया जा रहा है जो अनसेफ़ श्रेणी में आता है।

Spread the love

इंदौर