लापरवाही पर इंदौर की सीएमएचओ पूर्णिमा गाड़रिया के खिलाफ आरोप पत्र जारी करने के कलेक्टर के निर्देश, बीएमओ एवं नर्स को निलंबित करने को कहा

टी.एल. बैठक में सीएम हेल्प लाइन और समाधान स्टेटस की हुई समीक्षा

इंदौर। कार्य मे लापरवाही पर इंदौर की सीएमएचओ पूर्णिमा गाड़रिया के खिलाफ अप्रसन्नता जताते हुए आरोप पत्र जारी करने के निर्देश कलेक्टर मनीष सिंह ने दिए। साथ ही एक बीएमओ एवं नर्स को निलंबित करने के निर्देश भी जारी किए।

सोमवार को कलेक्ट्रेट कार्यालय में आयोजित हुई टी.एल. बैठक में विभागीय शिकायतों के समाधान स्टेटस के अवलोकन पर लोक स्वास्थ्य विभाग से संबंधित शिकायत की समीक्षा के दौरान पाया गया कि महू ब्लॉक स्थित उप स्वास्थ्य केन्द्र पिगडम्बर में आवेदक जितेन्द्र सिंह चौहान ने सीएम हेल्प लाइन में शिकायत की थी कि उप स्वास्थ केन्द्र में उपस्थित नर्स द्वारा पांच बजे के बाद आने का कारण बताकर उनकी बेटी का इलाज करने से मना कर दिया गया था। समीक्षा में पाया गया कि उक्त शिकायत पर संबंधित ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर द्वारा उचित कार्रवाई नहीं की गई। जिसे देखते हुये कलेक्टर मनीष सिंह ने बीएमओ द्वारा ठीक से जांच ना करने तथा नर्स एवं बीएमओ द्वारा दायित्वों के निर्वाहन में लापरवाही दिखाने पर निलंबित करने के निर्देश दिये।


इसी तरह कलेक्टर सिंह ने लोक स्वास्थ्य से संबंधित दूसरी शिकायत पर सीएमएचओ पूर्णिमा गाड़रिया द्वारा संबंधित आवेदन की उचित मॉनिटरिंग ना करने तथा कार्य में लापरवाही दिखाने पर भी अप्रसन्नता जतायी और उनके विरुद्ध आरोप पत्र जारी करने के निर्देश दिये।

टी.एल. बैठक में कलेक्टर सिंह द्वारा समाधान स्टेटस की समीक्षा में पाया गया कि निजी भूमि पर अवैध कब्जा/अतिक्रमण संबंधित 250 प्रकरण लंबित है। उन्होंने सभी एसडीएम को निर्देश दिये कि उक्त लंबित प्रकरणों के निराकरण हेतु प्रतिदिन राजस्व न्यायालय में पेशी आयोजित की जाये।

नामांतरण एवं बटवारा संबंधित राजस्व मामलों की भी तहसीलवार समीक्षा की गई। उक्त विषय से संबंधित 43 आवेदनों के समय-सीमा अंतर्गत निराकरण करने के निर्देश कलेक्टर ने सभी एसडीएम को दिये। समीक्षा में पाया गया कि जूनी इंदौर तथा मल्हारगंज तहसील में जाति प्रमाण-पत्र एवं बीपीएल कार्ड से संबंधित आवेदनों की संख्या अन्य तहसीलों के तुलना में कई ज्यादा है।

वर्तमान में इन आवेदनों पर कार्रवाई संबंधित क्षेत्र के एसडीएम द्वारा की जाति है, जिससे राजस्व के अन्य मामले प्रभावित होते है। उक्त परिस्थित को दृष्टिगत रखते हुये कलेक्टर सिंह ने जूनी इंदौर तथा मल्हारगंज तहसील में जाति प्रमाण-पत्र एवं बीपीएल कार्ड से संबंधित आवेदनों पर कार्रवाई तथा लंबित शिकायतों के निराकरण हेतु संयुक्त कलेक्टर सुनील कुमार झा को प्रभारी अधिकारी के रूप में नियुक्त करने के निर्देश दिये।

सीएम हेल्प लाइन में दर्ज शिकायतों की विभागवार विस्तृत समीक्षा की गई। उन्होंने प्रत्येक विभाग प्रमुखों को सीएम हेल्प लाइन पर 100 दिवस की अधिक अवधि से लंबित कुल 1688 शिकायतों का समय-सीमा अंतर्गत प्राथमिकता के साथ संतुष्टिपूर्वक निराकरण सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। बैठक में अपर कलेक्टर पवन जैन, जिला पंचायत सीईओ हिमांशु चंद्र, अपर कलेक्टर अभय बेडेकर, अपर कलेक्टर अजय देव शर्मा सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Spread the love

इंदौर