कोरोना संकट के बीच डॉक्टर्स, मेडिकल स्टाफ और अस्पतालों पर हमलों के विरोध में डॉक्टर्स 22 को व्हाइट अलर्ट, 23 अप्रैल को ब्लैक डे मनाएंगे

दिल्ली। देश में कोरोना संकट के बीच डॉक्टर्स, मेडिकल स्टाफ और अस्पतालों पर हो रहे हमलों के विरोध में देश भर के डॉक्टर्स 22 को व्हाइट अलर्ट और 23 अप्रैल को ब्लैक डे मनाएंगे।


इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने सरकार से मांग की है कि सुरक्षित कार्यस्थलों के लिए हमारी वैध जरूरतों को पूरा करना होगा। डॉक्टरों के साथ गाली-गलौज और हिंसा तुरंत बंद होनी चाहिए।

आईएमए के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉक्टर राजन शर्मा के अनुसार व्हाइट अलर्ट के तहत सभी डॉक्टर व्हाइट कोट पहनकर 22 अप्रैल की रात 9 बजे मोमबत्ती जलाकर विरोध दर्ज कराएंगे जो ‘व्हाइट अलर्ट टू द नेशन’ होगा।

अगर सरकार व्हाइट अलर्ट के बाद भी डॉक्टरों और अस्पतालों के खिलाफ हो रही हिंसा पर केंद्रीय कानून लागू करने में विफल रहती है, तो आईएमए 23 अप्रैल को ‘काला दिवस’ (ब्लेक डे) मनाएगा। इसमे देश के सभी डॉक्टर्स ब्लेक बैज (काली पट्टी) बांधकर काम करेंगे।

Spread the love

इंदौर