मतदान के 24 घण्टे बाद भी अभी तक साफ़ नहीं कि अमेरिका का अगला राष्ट्रपति कौन होगा. ट्रम्प व बाइडन में कशमकश जारी

वाशिंगटन। मतदान होने के बाद 24 घंटे का वक़्त हो गया है लेकिन अभी तक साफ़ नहीं है कि अमेरिका का अगला राष्ट्रपति कौन होगा? ट्रम्प व बाइडन में कशमकश जारी है।
बीबीसी के मुताबिक हालांकि यह कोई हैरान करने वाला नहीं है। पोस्टल बैलेट की गिनती चल रही है. पोस्टल बैलेट की गिनती में वक़्त लगता है।

अभी क्या हो रहा है?

कुछ राज्यों में रेस अब भी बाक़ी है. पेन्सोवेनिया, विसकॉन्सिन और मिशिगन में वोटों की गिनती अभी जारी है।
मिशिगन के इलेक्शन चीफ़ ने कहा है कि अभी एक लाख वोटों की गिनती बाक़ी है।


विसकॉन्सिन में सभी वोटों की गिनती हो गई है और यहां अब भी मिलान जारी है ताकि मैथ्स में कोई गड़बड़ी ना हो।
जॉर्जिया में अभी दो लाख वोटों की गिनती बाक़ी है।
पूरे अमेरिका में अभी लाखों वोटों की गिनती बाक़ी है।
दोनों पक्ष जीत के दावे कर रहे हैं।


अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों के आ रहे परिणाम बताते हैं कि दोनों ही उम्मीदवारों में कड़ी टक्कर है उम्मीदवार को व्हाइट हाउस पहुंचने के लिए 270 इलेक्टोरल कॉलेज वोट की ज़रूरत है।
डोनाल्ड ट्रंप ने अभी तक 21 राज्यों में अपनी पकड़ बना रखी है इनमें टेक्सस और जीत के लिए ज़रूरी राज्य फ़्लोरिडा शामिल हैं।


अमेरिका के अहम राज्यों में राष्ट्रपति चुनाव के नतीजों का इंतज़ार अभी ख़त्म नहीं हुआ है लेकिन जो बाइडन का पॉप्युलर वोट लगातार बढ़ रहा है।

डेमोक्रेट को अब तक राष्ट्रपति ट्रंप की तुलना में राष्ट्रीय स्तर पर 25 लाख ज़्यादा वोट मिले हैं। वोट शेयर में बाइडन का अब तक का हिस्सा 50 फ़ीसदी है जबकि ट्रंप का 48 फ़ीसदी. इसका मतलब यह नहीं है कि बाइडन की जीत सुनिश्चित हो गई है।

हिलेरी क्लिंटन को 2016 में ट्रंप से 30 लाख ज़्यादा वोट मिले थे लेकिन वो इलेक्टोरल कॉलेज की लड़ाई में पिछड़ गई थीं। जो बाइडन की कैंपेन टीम ने रिपब्लिकन्स पर वोट के साथ छेड़छाड़ करने का आरोप लगाया है।

साभार; बीबीसी न्यूज

Spread the love

8

इंदौर