इंदौर में घर पर ही लैपटाप व प्रिंटर के माध्यम से नकली नोट छापने वाला बदमाश गिरफ्तार, 2.53 लाख के नकली नोट बरामद, गांवों व मजदूर वर्ग में खपाता था

इंदौर। इंदौर में घर पर ही लैपटाप व प्रिंटर के माध्यम से नकली नोट छापने वाले बदमाश को क्राइम ब्रांच की टीम ने गिरफ्तार किया है। उसके पास से 2.53 लाख के नकली नोट बरामद किए हैं। आरोपी गांवों व मजदूर वर्ग में ये नकली नोट खपाता था।

आरोपी के पास से बैग व जेब में रखे 100 रू के 476, 500 के 159 एवं 2000 रू के 63 नकली नोट जप्त किए गए। उसके घऱ से एक लैपटाप,प्रिन्टर , नोट छापने में उपयोग किये ए-4 साईस के कागज 100,500,2000 के मार्का में उपयोग किये असली 03-03 नोट एवं कागजो पर छपे 100, 500, 2000 रु. के प्रिन्ट भी जप्त हुए।

आरोपी का नाम राजरतन पिता अनिल तायडे उम्र 25 साल निवासी आजाद नगर जिला इन्दौर है। आईजी हरिनारायण चारी मिश्र डीआईजी मनीष कपूरिया, पुलिस अधीक्षक (मुख्यालय) अरविन्द तिवारी के मार्गदर्शन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक क्राइम गुरूप्रसाद पाराशर व टीम ने उसे पकड़ा।


प्राथमिक पूछताछ करने पर पकड़े गए आरोपी राजरतन व्दारा उन नोटो को नकली होना स्वीकार किया एवं उक्त नकली नोटो के बंडल को सब्जी मंडी मे स्थानीय ठेला व सब्जी वालों को खपाने (चलाने) हेतू आना बताया उसके खिलाफ धारा489-A, 489-B,489-C भादवि के अन्तर्गत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गया । आरोपी पिछले 1 माह से नोट बनाने का काम कर रहा था। उसका उद्देशय पुराने 100 के नोट को ही चलाने का था परन्तु उसके द्वारा 500 , 2000 के नोटो को भी प्रिंट लिया गया और उसे भी मार्केट में चलाने की फिराक में था।

आरोपी से उसके संपर्को व खपाने वाले स्थानो के बारे में जानकारी ली जा रही है । आरोपी के द्वारा अब तक सीमावर्ती गांवो एवं सब्जीमंडी में विगत एक माह से करीब 10 से 20 हजार रुपये से ऊपर 100-100 के नोटों का खपना बताया गया है ।

आरोपी कक्षा 12 तक पढा लिखा है और केसर बाग रोड़ स्थित एक क्लब में ट्रेनर का काम करता है। लॉकडाउन में काम छूट गया था।

आरोपी थाना खुडेल में मारपीट , थाना कनाडिया में अवैध वसूली, धमकी एवं चन्दनगर में ट्रक चोरी में पूर्व में गिरफ्तार हो चुका है ।

Spread the love

इंदौर