इंदौर में ब्याज व लेनदेन के विवाद में लिखा दी लूट की झूठी रिपोर्ट, पुलिस ने किया पर्दाफाश, अब फरियादी पर दर्ज होगा झूठी एफआईआर का केस


इंदौर। इंदौर में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमे ब्याज व लेनदेन के विवाद में लूट की झूठी रिपोर्ट लिखा दी। पुलिस ने मामले का पर्दाफाश कर दिया, अब फरियादी पर झूठी एफआईआर का केस दर्ज होगा।

मामला इस प्रकार है कि इंदौर के थाना एरोड्रम क्षेत्र अंतर्गत गत तीस सितंबर की रात्रि 09.45 बजे करीब फरियादी लीलाधर पिता दयाराम चडोकर उम्र 30 वर्ष निवासी 37/5 नंदबाग कालौनी थाना बाणगंगा इंदौर द्वारा रिपोर्ट लिखाई गई।

इसमें कहा गया कि इन्फोसिस कंपनी के पीछे नरीमन तिराहे पर दो अज्ञात व्यक्तियों द्वारा मोटरसाईकिल का पेट्रोल खत्म होने एवं मोटरसाईकिल में धक्का लगाने के बहाने फरियादी को कट्टा एवं चाकू दिखाकर 20 हजार रूपये तथा अन्य कागजात लूट कर मोटरसाईकिल से भाग गए।

पूछताछ में फरियादी ने बताया कि उक्त रूपया वह अपने परिचित मनीष वर्मा निवासी गांधी नगर इंदौर से रात्रि में लेकर अपने घर जा रहा था, तभी यह लूट की गई थी। उसने तत्समय आरोपीगण की मोटरसाईकिल का नंबर MP-09/VT-8476 बताया।

विवेचना के दौरान प्रथम दृष्ट्या लूट की घटना संदेहास्पद प्रतीत हो रही थी, तत्काल ही टीम बनाकर उक्त वाहन मालिक की तलाश की गई जो कि पूरनलाल पिता छोटेलाल निवासी 15 सुंदर नगर थाना बाणगंगा इंदौर के नाम से होना पायी गई।

पूरनलाल के लड़के गौरीशंकर से पूछताछ पर उसके द्वारा बताया गया कि हमारा व लीलाधर का रूपये पैसे लेनदेन का पूर्व का विवाद चल रहा है जिसमें लीलाधर द्वारा अवैध रूप से ब्याज की बड़ी हुई राशि की मांग की जा रही है। लीलाधर द्वारा इस संबंध में 138 एनआईए की कार्यवाही भी हमारे विरूध्द न्यायालय में करायी गई है। इसी विवाद के चलते रंजिशन लूट की यह झूठी रिपोर्ट कराई गई है।

इस पर जब फरियादी लीलाधर से पूछताछ की गई तो उसने भी उपरोक्त तथ्यों की पुष्टि करते हुए रूपये पैसों के लेनदेन की बात को लेकर रंजिशन झूठी रिपोर्ट करना स्वीकार किया। प्रकरण में विवेचना की जाकर साक्ष्यों के आधार पर खारजी की जाकर अब फरियादी के विरूध्द धारा 182-211 की कार्यवाही पृथक से की जावेंगी।

उपरोक्त कार्यवाही में डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्र, एसपी पश्चिम महेशचंद्र जैन, अति. पुलिस अधीक्षक प्रशांत चौबे एवं नगर पुलिस अधीक्षक मल्हारंगज जयंत राठौर के निर्देशन में थाना प्रभारी एरोड्रम राहुल शर्मा, उप निरीक्षक बी एस राठौर, सउनि. उमाशंकर यादव, सउनि. रविराज सिंह बैस, आरक्षक पवन पाण्डेय, अरविन्द सिंह तोमर, व योगेश सिंह तोमर की भूमिका रही।

Spread the love

8

इंदौर