इंदौर की महाराष्ट्र ब्राह्मण सहकारी बैंक मामले में जिसको जो करना है कर ले, मेरा विश्वास है मेरे बेटे पर आंच नहीं आएगी- सुमित्रा महाजन

इंदौर। पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने मीडिया द्वारा पूछे गए सवालों के जवाब में कहा है कि इंदौर की महाराष्ट्र ब्राह्मण सहकारी बैंक मामले में जिसको जो करना है कर ले, मेरा विश्वास है कि मेरे बेटे पर आंच नहीं आएगी।


उनसे मीडिया द्वारा सवाल किया गया था कि राज्य सरकार एक बार फिर महाराष्ट्र ब्राह्मण बैंक की फाइल खोलने जा रही है, तो क्या राज्य सरकार बदले की भावना से यह कार्यवाही कर रही है।

इस पर सुमित्रा महाजन ने कहा कि पहले भी कई बार हो चुका, मैं ऐसा कुछ नहीं कहूंगी। लेकिन जिसे जो करना हो वह कर ले। मेरा विश्वास है कि मेरे बेटे पर आंच नहीं आएगी। मैने ही इस बैंक के 1200 लोगों को प्रयास करके एक एक लाख रुपये दिलवाए। देखें वीडियो क्या कहा सुमित्रा महाजन ने-

यह है मामला
महाराष्ट्र ब्राह्मण सहकारी बैंक 1985 में सुमित्रा महाजन डायरेक्टर बनायी गयी थीं। बाद में 1997 में सुमित्रा महाजन के बडे़ बेटे मिलिंद महाजन बैंक के डायरेक्टर बने जी 2003 तक इस पद पर रहे. इसी दौरान अपात्र लोगों को लगभग 30 करोड़ के लोन बांटने के आरोप लगे।

जब इस मामले की शिकायतें हुईं तो मिलिंद महाजन सहित 16 लोगों के खिलाफ 2005 में इंदौर के सेंट्रल कोतवाली थाने में एफआईआर दर्ज की गयी। पुलिस द्वारा पुनर्विवेचना में मिलिंद महाजन का नाम एफआईआर से हटा दिया गया.

लेकिन अब राज्य में कांग्रेस की सरकार में के चलते इस मामले की फाइलें फिर खोले जाने की चर्चाएं है। इसी को लेकर सवाल पर सुमित्रा महाजन ने उक्त जवाब दिए।

Spread the love

इंदौर