इंदौर जिले में 21 और नये कंटेनमेंट एरिया घोषित, इंदौर के एमवाय में भी हो सकेगा कोरोना मरीजों का इलाज

इंदौर। इंदौर जिले में 21 और नये कंटेनमेंट एरिया घोषित किए गए हैं। इंदौर के एमवाय में भी अब कोरोना मरीजों का इलाज हो सकेगा। कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी मनीष सिंह ने इंदौर ‍जिले में पाए गए नए कोविड-19 के पॉजिटिव मरीजों के मद्देनजर आज 21 नये कंटेनमेंट एरिया घोषित किए हैं। इन कंटेनमेंट एरिया के लिए इंसीडेंट कमांडरों की नियुक्ति भी कर दी गई है।

इस संबंध में जारी आदेश के अनुसार जिन क्षेत्रों को कंटनमेंट एरिया घोषित किया गया है उनमें बसंत विहार कॉलोनी, राम नग, राम बगीचा मंदिर, ईतवारिया बाजार, कंडिलपुरा, राबर्ट नर्सिंग होम, रोनक विला, शेखर पार्क, कटकोदा, टीचर्च कॉलोनी, पंचशील नगर लोहा मण्डी, मंगल मुर्ति कृष्णाजी नगर शामिल है। इसी तरह बडोदियाखान, मुखर्जी नगर, सुख संपदा कॉलोनी, अम्बेडकर नगर, जोसेफ कान्वेंट बिजलपुर, देवी इंदिरा नगर, सिंधु नगर, जानकी नगर एक्सटेंशन तथा टस्टर्लिंग स्कायलाईन को भी कंटेनमेंट एरिया घोषित किया गया है।

संक्रमण की रोकथाम हेतु कंटेनमेंट एरिया के अंतर्गत पूर्ण रूप से आवागमन प्रतिबंधित रहेगा एवं इस एरिया में अंदर आना एवं बाहर जाना भी पूर्ण रूप से प्रतिबंधित होगा। कंटेनमेंट एरिया में स्वास्थ्य कर्मचारियों द्वारा सतत स्क्रीनिंग की जाएगी। इसके लिए दलों का गठन भी किया गया है।

समस्त दल कोरोना वायरस संदिग्ध केस की मानिटरिंग प्रतिदिन करेंगे, एवं कोरोना संक्रमण के संभावित लक्षण जैसे बुखार, खांसी, गले में दर्द एवं श्वास लेने में तकलीफ आदि लक्षण आने पर वरिष्ठों को सूचना देना सुनिश्चित करेंगे। कोविड-19 के सस्पेक्टेड केस की मानिटरिंग करेंगे। पॉजिटिव मरीजों के परिजन, निकट संपर्क को कोरेंटाइन कराना, उनका फॉलोअप लेना आदि कार्य भी दलों द्वारा किया जाएगा।

इंदौर के एमवाय में भी हो सकेगा कोरोना मरीजों का इलाज, सात में से तीन मंजिल में बनेंगे कोरोना वार्ड

इन्दौर। शहर में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमितों की चिंता के साथ आगामी दिनों में भी शहरी प्रशासन मुश्तैद है। आगामी दिनों में शहर में बढ़ते कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या से शासन – प्रशासन भी चिंतित हैं। ऐसे में महाराजा यशवंतराव (एमवाय) अस्पताल की ऊपरी तीन मंजिल में कोविड वार्ड बनाएँ जाना भी प्रस्तावित हैं। वैसे एम वाय अस्पताल सुपर स्पेशलिटी अस्पताल है। ऐसी स्थिति में कोरोना संक्रमित लोगों के उपचार के लिए यह कारगर पहल होगी। कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ने और आवश्यकता पड़ने पर शहर में स्थिति आईआईटी एवं आईआईएम को भी आइसोलेशन के लिए उपयोग में लाया जा सकता हैं।

पिछले दिनों जनप्रतिनिधियों के सुझाव आएं थे कि इस कोरोना काल में जो शासकीय अस्पताल है उन्हें ही सुदृढ़ बनाएँ जाएं बजाय अन्य गैर शासकीय अस्पतालों के। इस संदर्भ में सांसद शंकर लालवानी ने बताया कि सरकार और स्थानीय प्रशासन मिलकर एमवाय अस्पताल की तीन मंजिलों को कोविड वार्ड के रूप में तैयार करेंगे जिससे जनता को भी राहत मिलें।

इन्दौर के आईआईटी और आईआईएम बन सकते है कोविड सेंटर

इन्दौर। देश के एक ही शहर में आईआईटी और आईआईएम होने के गौरव वाले इंदौर शहर में जल्द ही यह दोनों राष्ट्रीय स्तर के शैक्षणिक संस्थान कोविड सेंटर के रूप में नज़र आ सकते हैं।
कोविड संक्रमित मरीजों के मामले में देश के 10 प्रमुख शहरों में शुमार इन्दौर में तमाम प्रयासों के बावजूद कोरोना संक्रमण पर काबू नहीं पाया जा सका है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन और भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, नईदिल्ली की चेतावनियों के मद्देनजर शहर में दस से पंद्रह हजार मरीजों के इलाज की व्यवस्था की जा रही हैं। इन्दौर के आला अफसरों और जनप्रतिनिधियों ने मिलकर इलाज के लिए कई स्थानों को चिन्हीत किया है जिसमें आईआईटी एवं आईआईएम भी शामिल हैं।


दोनों संस्थानों के डायरेक्टरों से कहा गया है कि वे संस्थान में प्रवेश तथा परीक्षाओं की तिथि को नए सिरे से निर्धारित करें। इस संदर्भ में सांसद शंकर लालवानी ने बताया कि आईआईटी एवं आईआईएम में कोविड मरीजों के इलाज के लिए व्यवस्थाएँ जुटाई जा रही हैं।पहले चरण में यहाँ मरीजों को कोरेन्टाइन करने व दूसरे चरण में इलाज तक की व्यवस्था की जा रही हैं। दोनों संस्थानों में बड़ी संख्या में मरीज रखें जा सकते हैं।

बेटमा, देपालपुर व गौतमपुरा में एस.डी.एम द्वारा टोटल लॉकडाउन के आदेश

कोरोना वायरस संक्रमण रोकने तथा सोशन डिस्टैंसिंग का पालन कराने हेतु एस.डी.एम देपालपुर प्रतुल सिंन्हा ने इंदौर जिले के बेटमा, देपालपुर, और गौतमपुरा में 28 मई, 2020 से आगामी आदेश तक टोटल लाकडाउन के आदेश जारी किए हैं।

सम्पूर्ण देपालपुर क्षेत्र में किराना, मेडिकल स्टोर, कृषि उपकरण, पशु आहार, समस्त हार्डवेयर, ऑटो पार्टस एवं ट्रेक्टर, मोटर साइकिल रिपेयरिंग शॉप (गैरेज), इलेक्ट्रानिक रिपेरिंग शॉप, जूते-चप्पल सुधारने हेतु मोची की दुकान, पंचर सुधारने की दुकान, समस्त सीमेंट-सरिया, भवन निर्माण सामग्री की दुकानें खोले जाने एवं भवन निर्माण संबंधी कार्य हेतु तहसील सीमा अन्तर्गत ग्रामों के मिस्त्री या मजदूर का उपयोग कर, निर्माण कार्य करने संबंधी दुकानों को विभिन्न समयावधि में खोले जाने की अनुमति दी गई थी।

मगर तहसील देपालपुर के ग्राम कटकोदा क्षेत्र में कोरोना संक्रमण फैल गया है। नगर में कई बाहरी लोगों का आवागमन की जानकारी भी मिली है। दुकानदारों एवं आम जनता के द्वारा सोशल डिस्टैंसिंग एवं लॉकडाउन के निर्देशों का पालन नहीं किया जा रहा है तथा प्रशासन द्वारा दी गई छूट का दुरुपयोग किया जा रहा है।

संक्रमण को क्षेत्र में फैलने से रोकने के उद्देश्य से एस.डी.एम. देपालपुर द्वारा 28 मई, 2020 से आगामी आदेश तक बेटमा, देपालपुर और गौतमपुरा क्षेत्र पूर्ण लॉकडाउन रखे जाने का आदेश दिया गया है। उक्त अवधि में मेडिकल स्टोर को छोड़कर कोई भी दुकान या संस्थान संचालित नही होगी।

Spread the love

इंदौर