इंदौर जिले में लॉक डाउन में कुछ घण्टों के अंतराल में दो हत्याएं, पुरानी रंजिश में मार डाला, गाड़ी लहराकर चलाने की बात पर हत्या कर दी, एक गम्भीर घायल

इंदौर। इंदौर जिले में लॉक डाउन में कुछ घण्टों के अंतराल में हत्या की दो वारदाते हो गई। एक गम्भीर घायल है। इसमे एक ग्रामीण व दूसरी शहरी इलाके में हुई। पहली वारदात इंडो जिले के देपालपुर के ग्राम अटाहेड़ा में सुबह 9 बजे हुई। यहां देवकरण पिता नाथू पटेल (50) और बाबूलाल पटेल पड़ोसी है। बताते हैं कि दोनों के बीच अनेक वर्षों से से पुरानी रंजिश है।

आज अटाहेड़ा-बानियाखेड़ी मार्ग पर देवकरण व उसका बेटा राजेश (24) हार्डवेयर की दुकान पर बिजली के पोल को सीधा करवा रहे थे। इस दौरान दूसरे पक्ष का कमल चौधरी वहां खड़ा था। वहा से हटने की बात पर विवाद हुआ।

इस दौरान कमल के परिजनों ने हथियारों से देवकरण व बेटे राजेश पर हमला कर दिया। देवकरण की मौके पर मौत हो गई व राजेश गम्भीर घायल हो गया। पुलिस ने फरियादी राजेश की रिपोर्ट पर कमल पिता बाबूलाल, बाबूलाल पिता मोतीराम , कपिल पिता कमल, जुगल पिता जगदीश राहुल पिता राजेंद्र व राजेंद्र पिता बाबूलाल के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया। बताते हैं कि लगभग 8 साल पहले कमल चौधरी की बेटी ने राजेश से प्रेम विवाह किया था तब से ही दोनों परिवार में रंजिश चली आ रही थी।

आजाद नगर में युवक की चाकू घोंपकर हत्या

इंदौर में हत्या की दूसरी वारदात दोपहर लगभग तीन बजेआजाद नगर थाना क्षेत्र में हुई। यहाँ एक युवक की सीने में चाकू घोंपकर हत्या कर दी गई। मृतक का नाम पिता चुन्नीलाल अकोदे उम्र 35 साल निवासी शिवनगर मुसाखेड़ी था। वह अपने एक रिश्तेदार के साथ दूध लेने जा रहा था तभी रास्ते में हुए विवाद के फलस्वरूप उसकी हत्या कर दी गई।

गाड़ी लहराकर चलाने पर हुआ था विवाद

आजादनगर पुलिस ने तीन घण्टे में ही अंधे कत्ल का सुराग लगाकर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी विशाल पिता बहादुर मालवी उम्र 19 वर्ष निवासी शिवनगर मूसाखेड़ी इंदौर व उसके दो साथी अपचारी बालकों को पकड़ा गया। पूछताछ में यह बात सामने आई कि गाड़ी लहराकर चलाने पर हुए विवाद में यह हत्या हुई।


आरोपियों की गिरफ्तारी में थाना प्रभारी आजाद नगर मनीष डावर उप निरीक्षक वैशाख धुर्वे सहायक उपनिरीक्षक विक्रम सिंह चौहान के अलावा आरक्षक कल्लू राठौर, ओम प्रकाश, रवि शंकर बरवा, प्रकाश व अमित तिवारी की भूमिका रही।

Spread the love

इंदौर