इंदौर जिले में पत्नी की गला घोंटकर हत्या कर दी और हार्टअटैक से मौत बताकर अंतिम संस्कार कर दिया, पति गिरफ्तार


इंदौर। इंदौर जिले में पति ने अपनी पत्नी की सोते में गला घोंटकर हत्या कर दी और हार्टअटैक से मौत बताकर लाश का अंतिम संस्कार भी कर दिया। पुलिस ने मामले का पता लगाकर आरोपी पति को हत्या के जुर्म में गिरफ्तार कर लिया। मामला इंदौर जिले के बेटमा थाना क्षेत्र का है।

पुलिस को मुखबिर द्वारा सूचना मिली की ग्राम माचल में संजूकुंवर राजपूत ने रात में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली, जिसे उसके पति भारतेन्द्र उर्फ दिलीप सिंह द्वारा अपने 4-5 रिश्तेदारों के साथ मिलकर तड़के 05.00 बजे ही श्मशान घाट में ले जाकर जला दिया है।

मामला शंकास्पद होने पर पुलिस टीम द्वारा मौके पर पहुचकर लोगो से पूछताछ की गई व शमशान घाट जाकर देखा तो एक चिता पूरी जली हुई अवस्था में मिली। संदेह होने पर मृतिका संजूकुंवर के पति दिलीप सिंह उर्फ भारतेन्दु से पूछताछ की गई।

पहले तो वह मृतिका की मृत्यु फांसी लगाने व हार्ट अटैक आने व अन्य तरह की बातें गोलमोल करने लगा लेकिन सख्ती से पूछताछ की तो आरोपी पति दिलीप सिंह उर्फ भारतेन्दु ने बताया कि उसकी पत्नी फरवरी माह में अमर खारौल के साथ भाग गई थी जो बाद में घर आ गई लेकिन मेरे साथ रहने से मना कर रही थी, जिस कारण मेरी समाज में काफी बेईज्जती हो रही थी ।

गत तीन अगस्त को भी संजुकुंवर अपने पति दिलीप सिंह उर्फ भारतेन्दु से बीमार होने के बहाना बनाकर बेटमा इलाज के लिये गई जहां से उसने भागने का प्रयास किया, जिसके बारें में पति दिलीप सिंह को पता लगने पर वह उसे जबरदस्ती अपने घर वापस ले गया ।

उसके बाद आरोपी दिलीप सिंह द्वारा अपनी पत्नी के बाल काटकर उसे अपने घर के अन्दर बंद कर दिया तथा आरोपी ने सोचा कि उसकी पत्नी संजूकुंवर के नाम से 02 बीघा जमीन है वह चली जायेगी तथा पत्नी भी चली जायेगी और मेरी समाज में कोई इज्जत नही रह जायेगी। इन सब बातों के कारण रात में ही आरोपी ने अपनी पत्नी को मारने का प्लान बनाया।

इसके चलते उसी रात आरोपी द्वारा पत्नी संजूकुंवर को खाने में नींद की गोली दी व उसके सो जाने पर रात में करीबन 12.00 बजे से 01.00 बजे के बीच में उसकी गला दबाकर हत्या कर दी। आरोपी ने सोचा कि कहीं उसकी पत्नी जिंदा न हो जाये इसके लिये आरोपी ने मृतिका का रस्सी से गला घोंटकर हत्या की पुष्टी की और रातभर जागता रहे। तड़के अपने परिवार के कुछ लोगो को बताया कि उसकी पत्नी संजुकुंवर की रात में हार्ट अटैक आने से मृत्यु हो गई और शमशान घाट ले जाकर अंतिम संस्कार कर दिया ।

आईजी विवेक शर्मा व उप पुलिस महानिरीक्षक हरिनारायण चारी मिश्र, पुलिस अधीक्षक महेश चंद जैन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महू अमित तोलानी एवं एस.डी.ओ.पी. देपालपुर संजय चतुर्वेदी के निर्देशन में इस अंधे कत्ल का पर्दाफाश करने में थाना प्रभारी बेटमा संजय शर्मा , उनि बिहारी सांवले , उनि रोशनी जैन , सउनि वीरेन्द्र सिंह गौर सउनि जीतू मिश्रा, प्रआर मुकेश नागर, अरविन्द सिंह, आरक्षक योगेश, पंकज ओझा, ज्ञानेन्द्र सिंह की महत्वपूर्ण भूमिका रही ।

Spread the love

12

इंदौर