चलती ट्रेन में इंदौर की युवती की हत्या का 12 घण्टे में पर्दाफाश, प्रेम प्रसंग के विवाद में हत्या कबूली, भोपाल का आरोपी युवक गिरफ्तार

इंदौर। इंदौर जबलपुर बीच चलने वाली ट्रेन में युवती की हत्या का पुलिस ने 12 घण्टे में पर्दाफाश कर भोपाल के आरोपी युवक को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। प्रेम प्रसंग के विवाद में उसने यह हत्या करना कबूला है। पकड़े गए आरोपी का नाम सागर सोनी निवासी भोपाल है। आरोपी ने कुछ समय पहले युवती की फेसबुक आईडी हैक कर उस पर अश्लील फोटो भी डाले थे।


उल्लेखनीय है कि गत एक जून को रात्रि को स्टेशन मास्टर सीहोर द्वारा बताया गया था कि इंदौर से जबलपुर के बीच चलने वाली ट्रेन 08233 नर्मदा एक्सप्रेस के कोच डी-3 में एक 23 वर्षीय युवती की हत्या कर दी गई। मौके पर युवती के गले में धारदार हथियार (चाकू) से गला रेतकर हत्या करना प्रतीत हुआ, घटनास्थल के पास एक रक्त रंजित चाकू भी पड़ा मिला। उसकी पहचान मुस्कान हाडा पिता जयसिंह उम्र 23 साल नि0 सुखलिया इंदौर के रूप में हुई।


आसपास के यात्रियों से पूछतांछ में खुलासा हुआ कि मृतिका घटना से कुछ मिनटों पहले अपनी सीट से उठकर बाथरुम के पास गई थी। वहां एकाएक किसी लडके से विवाद की आवाज आई एवं तत्काल ही वह लडकी सीट की तरफ लड़खड़ाते दिखी। इसी बीच कोच का दरवाजा जोर से बंद होने की आवाज आई जिससे आरोपी ट्रेन से कूदकर भाग गया। इस समय ट्रेन धीमी गति से सीहोर स्टेशन के प्लेटफार्म में प्रवेश कर रही थी।

प्रकरण में मृतिका के परिजनों ने पूछताछ में बताया कि मुस्कान इंदौर में एक प्राईवेट कंपनी के कॉल सेंटर में काम करती थी। वह अपनी कंपनी में काम करने वाली सहेली से मुलाकात करने नर्मदा एक्सप्रेस से भोपाल आ रही थी। ट्रेन में यात्रा के दौरान मृतिका के भाई की मृतिका से फोन पर बातचीत हुई तो उसने घबराते हुये परेशान होने की बात बताई थी क्योकि ट्रेन में सागर सोनी उसका पीछा कर रहा था। परिजनों ने यह भी बताया कि मृतिका और सागर सोनी एक दूसरे को कई वर्षों से जानते थे व उनके बीच विवाद भी हुये थे। जब संदेही आरोपी सागर को पकड़ा गया तब उसके कपड़ों एवं जूतों में खून के निशान मिले।

पूछतांछ में उसने बताया कि उसका परिवार पहले इंदौर में निवास करता था। इंदौर में रहने के दौरान पडोंस में रहने वाली मुस्कान के साथ उसकी दोस्ती हो गई। वह 05-06 साल के संपर्क एवं जान-पहचान के दौरान सागर ने मृतिका को बेहद प्रेम करना बताया किन्तु वर्तमान में उसकी तरफ से ऐसा कोई संबध आरोपी को प्रतीत नहीं हुआ। बार बार दोनों के बीच मनमुटाव व विवाद भी होते रहे है। दिनांक 01 जून 2021 को मुस्कान के इंदौर से भोपाल आने की जानकारी सागर को पता चली।

उसके बाद उसने मृतिका के अपने प्रति अप्रेमपूर्ण भाव को देखते हुये क्रोधवश जान से मारने का ठान लिया। पहले उसने शराब पी और उसके बाद चाकू लेकर नर्मदा एक्स0 पकड़ने के लिये शुजालपुर पहुँच गया। सीहोर स्टेशन आने से पहले सागर और मुस्कान के बीच बाथरुम के पास विवाद हुआ और सागर ने चाकू मारकर मुस्कान की हत्या कर दी। घटना के बाद सागर चाकू वहीं छोड़कर प्लेटफार्म में प्रवेश करती धीमी चलती ट्रेन से कूद कर भाग गया।

इस हत्याकांड का पर्दाफाश करने में पुलिस महानिदेशक रेल सुधीर कुमार शाही, पुलिस महानिरीक्षक रेल महेन्द्र कुमार सिकरवार, पुलिस अधीक्षक सीहोर शशीन्द्र सिंह चौहान, पुलिस अधीक्षक रेल हितेश चौधरी के निर्देशन में अति0 पुलिस अधीक्षक रेल भोपाल प्रतिमा एस मैथ्यू, उप पुलिस अधीक्षक रेल भोपाल एन के0 रजक , सिटी पुलिस अधीक्षक सीहोर दीपक नायक, थाना प्रभारी मंडी सीहोर निरी0 मनोज मिश्रा, थाना प्रभारी एरोड्रम इंदौर राहुल शर्मा, थाना प्रभारी जीआरपी इंदौर गायत्री सोनी, उप0 निरी0 आर0एन0 रावत, उनि0 एच0एल0 चौधरी, उनि0 श्रीसेन शुक्ला,सउनि0 विजय तिवारी, सउनि0 मूलचंद्र, सउनि0 उमाशंकर, सउनि0 ब्रजेश शर्मा, सउनि0 नरेन्द्र रावत, आर0 शैलेन्द्र, आर0 देवेन्द्र, आर0 राजेश शर्मा, आर लीलाधर, आर0 अखिलेश , आर0 महेन्द्र सिंह, आर0 वाजिद, आर0 दयाशंकर तिवारी, आर0 विक्रम, आर0 नजर, आर0 मयंक, आर0 छतर सिंह, आर0 संजय धाकड, आर0 अनिल सिंह, आर0 रामायण की भूमिका रही।

Spread the love

इंदौर