स्वच्छता में सिरमौर का तमगा हासिल करने के बाद इंदौर की एक और उपलब्धि, देश का पहला वाटर प्लस शहर हुआ घोषित

इंदौर। इंदौर ने एक और उपलब्धि हासिल की है। मप्र की औद्योगिक राजधानी इंदौर को देश का पहला वॉटर प्लस शहर घोषित किया गया है।


कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 के वाटर प्लस प्रोटोकॉल की गाइडलाइन अनुसार नगर पालिक निगम इंदौर द्वारा शहर की कान्ह सरस्वती नदी एवं शहर में बहने वाले छोटे बड़े 25 नालों में छूटे हुए 1746 सार्वजनिक एवं 5624 घरेलू सीवर आउट फॉल की टैपिंग कर नदी नालों को सीवर मुक्त किया गया*


आयुक्त नगर निगम इंदौर प्रतिभा पाल ने बताया कि सीवरेज ट्रीटमेंट हेतु शहर में सात एसटीपी का निर्माण कार्य किया गया एवं एसटीपी से 110 एमएलडी ट्रीटेड वॉटर का उपयोग किया जा रहा है। वाटर प्लस प्रोटोकॉल की गाइडलाइन अनुसार शहर में 147 विशेष प्रकार के यूरिनल का निर्माण किया गया तथा तालाब , कुओं तथा समस्त वॉटर बॉडी की सफाई का कार्य भी किया गया है*

प्रभारी मंत्री डॉ. मिश्र ने दी बधाई

इंदौर।प्रदेश के गृह मंत्री एवं इंदौर जिले के प्रभारी मंत्री डॉ.नरोत्तम मिश्र ने इंदौर शहर को स्वच्छता के क्षेत्र में मिली उपलब्धि के लिये बधाई दी है।

उन्होंने कहा कि इंदौर ने स्वच्छतता के क्षेत्र में वॉटर प्लस सर्टिफिकेट प्राप्त कर देश में इंदौर ही नहीं बल्कि पूरे प्रदेश का नाम रोशन किया है। इसके लिये शहर को स्वच्छ रखने में योगदान देने वाले सभी नागरिक, संस्थाएं और शासकीय-अमला बधाई के पात्र हैं।

Spread the love

इंदौर