इंदौर लोकायुक्त पुलिस द्वारा फसलों की बीमा राशि मंजूर कराने के नाम पर डेढ़ लाख की रिश्वत लेते सहकारी बैंक का जनरल मैनेजर रंगे हाथों गिरफ्तार

इंदौर। शनिवार को लोकायुक्त पुलिस की टीम ने फसलों की बीमा राशि मंजूर कराने के नाम पर डेढ़ लाख रुपए की रिश्वत लेते झाबुआ की सहकारी बैंक के जनरल मैनेजर को रंगे हाथों गिरफ्तार किया ।

मामला इस प्रकार है कि लोकायुक्त पुलिस इंदौर को आवेदक वेलसिह पलासिया पिता वेस्ता पलासिया, उम्र-51 वर्ष, शाखा प्रबंधक, जिला सहकारी केंद्रीय बैंक मर्यादित शाखा रामा जिला झाबुआ, ने शिकायत की थी कि आरोपी डी.आर.सरोठिया जनरल मैनेजर, जिला सहकारी मर्यादित केंद्रीय बैंक झाबुआ के द्वारा आवेदक की रामा ब्रांच के अधीन आने वाली तीन सोसायटी (कालीदेवी, माछलिया, उमरकोट) के करीब 180 हितग्राहियों को फसल बीमा राशि स्वीकृत हेतु पोर्टल पर इंट्री के लिए शेष 137 सदस्यों की ऑनलाइन एंट्री करने के एवज में ₹3,00,000/- रिश्वत की मांग की गई थी, जिसमें से 1,50,000/- रु. रिश्वत के आरोपी ने आवेदक पर दबाव बनाकर पूर्व में दिनांक 19.08.2021 को प्राप्त कर लिए थे, शेष रिश्वत राशि 1,50,000/- रुपए की मांग आवेदक से की जा रही है।


शिकायत की तस्दीक उपरांत आज ट्रेप का आयोजन किया गया और जिला सहकारी केंद्रीय बैंक मर्यादित झाबुआ के परिसर में स्थित आरोपी के शासकीय निवास के अंदर, आरोपी जनरल मैनेजर को आवेदक से 1,50,000/-रु.(एक लाख पचास हजार रुपये) रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा गया। आरोपी के विरूद्ध भ्रष्टाचार निवारण (संशोधन) अधिनियम 2018 की धारा-7, के अंतर्गत अपराध पंजीबद्घ कर, मौंके की कार्यवाही की जा रही है। लोकायुक्त दल में डीएसपी आनंद यादव, डीएसपी एस.एस.यादव, निरीक्षक राहुल गजभिये, प्रधान आरक्षक प्रमोद यादव, आरक्षक चंद्रमोहन बिष्ट, शिवप्रकाश पाराशर, कमलेश परिहार आदित्य भदौरिया, शेरसिंह, शामिल हैं।

Spread the love

इंदौर