इन्दौर में पकड़ाई मिलावटी मसाले की फैक्ट्री, क्राईम ब्राँच, खाद्य विभाग, नगर निगम, जी.एस.टी विभाग व सेल टेक्स विभाग का संयुक्त छापा

अस्वच्छ वातावरण और गंदगी में मिलावट कर तैयार किये जाते थे, मिर्ची, हल्दी, धनिया, गरम मसाला, आमचूर आदि मसाले

इंदौर। बुधवार को इन्दौर में मिलावटी मसाले की फैक्ट्री पकड़ी गई। क्राईम ब्राँच, खाद्य विभाग, नगर निगम, जी.एस.टी विभाग व सेल टेक्स विभाग ने संयुक्त छापा मार कर इसे पकड़ा। यहां पर अस्वच्छ वातावरण और गंदगी में मिलावट कर मिर्ची, हल्दी, धनिया, गरम मसाला, आमचूर आदि मसाले तैयार किये जाते थे।

यहां इलायची के खराब छिलके और प्याज की कलौंजी को तेज पत्ते के स्थान पर उपयोग करते थे। इन मसालों को ऋषभ एगमार्क मसाले नाम से बाजार में बेचते थे।

आईजी विवेक शर्मा, डीआईजी रुचिवर्धन मिश्र के निर्देशन में क्राइम ब्रांच को मुखबिर तंत्र के माध्यम से यह सूचना प्राप्त हुई थी कि, “ऋषभ फुड प्रोडक्ट मसाले” नायता मुंडला, बाईपास रोड इंदौर पर काफी लंबे समय से मिलावट कर खाद्य पदार्थों में उपयोग होने वाले सारे मसाले तैयार किए जा रहे हैं।


उक्त सूचना पर क्राइम ब्रांच की टीम ने मौके पर जाकर देखा तो, वहां मिलावट कर खाद्य पदार्थों में उपयोग होने वाले मिर्ची, हल्दी, धनिया, गरम मसाला, आमचूर, चना मसाला, चाट मसाला और सभी प्रकार के मसाले जो कि अस्वच्छ वातावरण और गंदगी में तैयार किए जा रहे हैं। इसमें नमक, काला नमक, सेंधा नमक भी तैयार किया जा रहा है।

मौके पर मिर्ची, नमक के ढेले, और मसालों में मिलाया जाने वाला खराब रॉ मटेरियल प्राप्त हुआ जिसमें इलायची के खराब छिलके और प्याज की कलौंजी तेज पत्तों के स्थान पर उपयोग किये जाते है, अन्य वनस्पतियों की पत्तियां यहां पर मूल वस्तुओं के स्थान पर पाई गई है, जिसे मिलाकर मसाले तैयार किए जा रहे थे।

इस पर अन्य सम्बंधित विभागों को भी सूचित कर बुला लिया गया। मौके से क्राईम ब्रांच की टीम द्वारा 1 लेपटॉप तथा विभिन्न बहीखाते तथा उधारी खाते पाये गये जिन्हें बरामद कर सेल टेक्स विभाग के सुपूर्द किया गया जिसमें सेल टेक्स विभाग की कार्यवाही जारी है, व खाद्य विभाग की टीम द्वारा labeling violation व Sampling seal तथा धारा 32 Food Safety And Standard Act 2006 के तहत् कार्यवाही की गयी व नगर निगम की टीम द्वारा कारखाने के मालिक पर स्पाट फाइन व कारखाने को सील बंद किया गया है,

अन्य कार्रवाई जारी है और मौके पर लाखों का माल पाया गया है। इस संबंध में किसी भी प्रकार का कोई स्टॉक रजिस्टर संधारित नहीं किया जाता है और कितना माल बेचा जाता है ,इसमें जीएसटी से संबंधित भी अनियमितताएं पाई गई जिस पर भी कार्रवाई की जा रही है ।

पुलिस के मुताबिक ऋषभ फूड प्रोडक्ट नायता मुंडला बाईपास इंदौर पर स्थित है जो कि प्रोपराइटरशिप फर्म है, जिसके संयुक्त रूप से मालिक जिगनेश जैन और अखिलेश जैन निवासी बख्तावर राम नगर इंदौर है, जिनके द्वारा खाद्य पदार्थों में उपयोग होने वाले समस्त उत्पादों को तैयार किया जा रहा है।

इनके द्वारा वर्ष 2003 से यह काम किया जा रहा है एवं करोड़ो रुपयों की कर चोरी की संभावना है तथा परिवार के विभिन्न खातों का आवलोकन भी सेल टेक्स की टीम द्वारा किया जाएगा।

पूर्व में भी खाद्य विभाग के द्वारा यहां पर छापेमारी की गई थी और उनके द्वारा लिए गए सैंपल अमानक पाया गये थे। यहां पर जो वातावरण है वह अस्वच्छ और मानव उपयुक्त वस्तुओं को तैयार करने लायक नहीं पाया गया व कारखाने में चुहे, दीमक व किड़े मकोड़े सामग्रियों में पाये गये ।

कारखाने में सुरक्षा की दृष्टि से किसी भी प्रकार की फायर उपकरण एवं मानव उपयोगी दस्ताने भी नहीं पाए गए उक्त कारखानें में वर्ष 2003 से मसालों का काम किया जा रहा है एवं लाखों रुपए की जीएसटी चोरी की भी संभावना है। सेंपल की जांच रिपोर्ट आने पर कानूनी कार्यवाही की जाएगी।

Spread the love

6

इंदौर