Jun 25 2019 /
3:59 AM

कमलनाथ का संकेत कहीं दिग्विजय के इंदौर से चुनाव लड़ने का तो नही?

छिंदवाड़ा। मप्र के मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा शनिवार को दिए गए संकेत को लेकर यह कयास लगाए जा रहे हैं कि कहीं ये संकेत दिग्विजय के इंदौर से लोकसभा चुनाव लड़ने का तो नही है?
दरअसल कमलनाथ शनिवार को छिंदवाड़ा में पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे। इस दौरान जब उनसे दिग्विजय सिंह के लोकसभा चुनाव लडऩे का सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि हम चाहते है कि दिग्विजय सबसे कठिन सीट से चुनाव लड़े।

प्रदेश में ऐसी चार-पांच सीटे हैं जिन्हें हम 35 साल से नहीं जीते हैं। मैंने उन्हें इन्हीं में से सबसे कठिन सीट से चुनाव लडऩे के लिए कहा है।जल्द ही हम इस पर अंतिम निर्णय लेंगें। गौरतलब है कि इन चार पांच सीटों में इंदौर व भोपाल की लोकसभा सीट भी शामिल है। इसके चलते यह कयास लगाए जा रहे हैं दिग्विजय सिंह इंदौर से कांग्रेस के प्रत्याशी हो सकते हैं। विगत कुछ दिनों से उनकी इंदौर में सक्रियता भी बढ़ गयी है।
अन्य सवालों के जवाब में कमलनाथ ने कहा कि उम्मीदवारों के नामों को लेकर अभी और बैठकें होनी हैं। प्रत्याशियों के चयन को लेकर सिर्फ बुनियादी तौर चर्चा हुई है। प्रदेश में उम्मीदवारों की सूची अगले तीन-चार दिन में तय होने की संभावना है, अभी चर्चाएं चल रही हैं। लोकसभा के इस चुनाव में कांग्रेस मध्यप्रदेश में 22 से ज्यादा सीटें जीतेंगी। अधूरी कर्जमाफी को लेकर उठ रहे सवाल पर नाथ ने कहा कि भाजपा ऋण माफी को लेकर जनता को बरगला रही है।आचार संहिता से पहले 60 दिन में प्रदेश के 22 लाख किसानों का कर्ज माफ किया है।

आचार संहिता के कारण काम रोका गया है। कांग्रेस अपने हर वादे को पूरा करेगी, आचार संहिता के बाद हर हाल में किसानों की कर्जमाफी होगी। कांग्रेस की नीति और नीयत साफ है।

Spread the love

इंदौर