भारी हंगामे के बीच मप्र विस अनिश्चित स्थगित

भोपाल। अविश्वास प्रस्ताव पर बहस को लेकर मंगलवार को हुए भारी हंगामे के बीच विस की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गयी। इस हंगामे के कारण विस का मानसून सत्र मात्र 2 दिन में ही खत्म ही गया।
इस मामले में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह नेआरोप लगाया कि जनता की आवाज़ को सदन में दबाया जा रहा है। बीजेपी को कि लोकतंत्र पर भरोसा नहीं है। रामनिवास रावत द्वारा आसन्दी पर गंभीर आरोप लगते हुए कहा गया कि सरकार और आसन्दी मिलकर विपक्ष की आवाज को दबा रहे है। मंत्रियों ने जमकर भ्रष्टाचार किया है, और इस पर चर्चा न हो सकें इसलिए सरकार हंगामा मचा रही है। जीतू पटवारी का आरोप था कि बीजेपी कायराना हरकत कर रही है।
जितना कर्ज प्रदेश पर है उससे ज्यादा भ्रष्टाचार बीजेपी ने किया है। इसके पहले मध्यप्रदेश विस में हंगामा जारी रहा। पक्ष और विपक्ष के बीच जमकर आरोप प्रत्यारोप लगे। एक दूसरे पर लगाया सदन नहीं चलाने देने का आरोप लगाया गया। सदन की कार्यवाही दी बार स्थगित करना पड़ी। इसके बाद भी हंगामा जारी रहने पर अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दिया गया।

Spread the love

इंदौर