इंदौर जिले में अब 20 सायबर सेल, सायबर क्राइम से संबंधित शिकायतें ASP तथा CSP कार्यालयों में भी अब करा सकेगें, देखें स्थान व मोबाइल नंबर

इंदौर। इंदौर जिले में अब 20 सायबर सेल गठित कर दिए गए हैं। इसके चलते सायबर क्राइम से संबंधित शिकायतें अब ASP तथा CSP कार्यालयों में भी कराई जा सकेगी।

(देखें इनके स्थान व मोबाइल नंबर)


इंदौर पुलिस द्वारा बढ़ते हुये सायबर अपराधों एवं ऑनलाईन ठगी की वारदातों की रोकथाम करने तथा इनसे संबंधित अपराधों की विवेचना हेतु पुलिस अधीक्षक पूर्व तथा पश्चिम क्षेत्र में प्रत्येक अनुभाग स्तर पर, पृथक पृथक सायबर सेल का गठन किया गया है, जिसमें ऑनलाईन फ्रॉड की शिकायतों, सोशल मीडिया से संबंधित शिकायतों की जांच, इनसे संबंधित अपराधों की विवेचना के साथ ही संबंधित क्षेत्राधिकार में विभिन्न प्रकार के अनुसंधान हेतु विवेचकों को वांछनीय जानकारियां प्रदाय किये जाने का, जैसे पीएसटीएन, सीडीआर, आईपीडीआर, एवं विभिन्न तकनीकी जानकारियों को प्राप्त कर उनका विश्लेषण किये जाने संबंधी कार्य किया जायेगा।


इंदौर जिले में सायबर संबंधी अपराधों की शिकायत करने हेतु पीड़ितों की सहूलियत को ध्यान में रखते हुये, तथा दिन प्रतिदिन बढ़ रहे सायबर अपराधों पर अंकुश पाने तथा घटित अपराधों पर कार्यवाही करने के लिये प्रत्येक ASP स्तर के अधिकारी से लेकर CSP, DSP व एसडीओपी स्तर के अधिकारी के अनुभागों में सायबर सेल का गठन किया गया है। इस हेतु जिले भर में 100 से अधिक, अधिकारियों/कर्मचारियों को क्राईम ब्रांच इंदौर द्वारा प्रशिक्षण प्रदाय किया गया जिन्हें उपरोक्त प्रकार के कार्यां को करने हेतु विभिन्न अनुभागों में तैनात किया गया है।

क्राईम ब्रांच इंदौर के अलावा अब अन्य 20 जगहों (अपुअ/नपुअ स्तरीय कार्यालयों) से सायबर अपराधों की जांच व विवचेना की कार्यवाही संभव हो सकेगी। इसमें वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रूचिवर्धन मिश्र द्वारा आदेश जारी करते हुये समय समय पर जारी की गई एसओपी का अक्षरशः पालन सुनिश्चित कर, उपरोक्तानुसार कार्यवाही करने के लिये अधिकारियों/कर्मचारियों को निर्देशित किया गया है ।

यहां पर सोशल साईट्स जैसे फेसबुक, टट्वीटर, इन्स्टाग्राम, व्हाट्सऐप, आदि के माध्यम से घटित होने वाले विभन्न अपराधों, पीएसटीएन/टॉवर डम्प, सीडीआर एनालिसिस, जीपीआरएस सीडीआर, आईपीडीआर, ओटीपी फ्रॉड, विभिन्न प्रकार से होने वाले आनलाईन फ्रॉड जैसे मेट्रोमानियल बेवसाईट्स, लॉटरी के नाम पर फ्रॉड, टॉवर लगवाने के नाम पर फ्रॉड, ओएलएक्स पर खरीददारी के साथ ही कमर्शियल बेवसाईट्स के माध्यम से होने वाले फ्रॉड, विभन्न ऑनलाईन ट्रांजेक्शन वैलेट्स आदि के साथ ही ई बैंकिग तथा प्लास्टिक कार्ड के माध्यम से होने वाले फ्रॉड्स की शिकायतों की जांच/विवेचना की कार्यवाही की जायेगी।

Spread the love

इंदौर