इंदौर में अब निजी लैब ₹ 2500 से ज्यादा कोविड टेस्टिंग राशि नहीं ले सकेंगे, बिना लक्षण वाले 3 दिन में डिस्चार्ज हो सकेंगे, कलेक्टर के विस्तृत आदेश जारी, देखें आदेश

इंदौर। इंदौर में अब निजी लैब ₹ 2500 से ज्यादा कोविड टेस्टिंग राशि नहीं ले सकेंगे, इसमें घर से कलेक्शन लेने का चार्ज भी शामिल रहेगा। इसी तरह कोविड के बिना लक्षण वाले मरीज 3 दिन में डिस्चार्ज हो सकेंगे। इस सम्बंध में कलेक्टर ने विस्तृत आदेश जारी किए हैं। (देखे आदेश की कॉपी)

कलेक्टर मनीष सिंह में निजी अस्पतालों और लैब की लूट पट्टी की मिल रही शिकायतों और रक दिन पहले मुख्यमंत्री द्वारा दिए गए निर्देशों के बाद उक्त महत्वपूर्ण आदेश जारी किया है। इसमे अब सभी निजी लैब ₹ 2500 से ज्यादा टेस्टिंग राशि नहीं ले सकेंगे , इसमें घर से कलेक्शन लेने का चार्ज भी शामिल रहेगा।

अभी 4500 से लेकर ₹5000 तक की राशि टेस्टिंग के नाम पर वसूल की जा रही है। ऐसे ही हल्के लक्षण वाले मरीजों की, जो पूरी तरह स्वस्थ हैं, उन्हें 3 दिन बाद ही अस्पताल से डिस्चार्ज कर होम आइसोलेशन में शिफ्ट किया जा सकेगा। अब 10 दिनों तक अस्पताल में रखने की अनिवार्यता नहीं रहेगी।

इसके लिए होम आइसोलेशन कंट्रोल रूम के दो डॉक्टरों को जिम्मेदारी सौंपी गई है। इस आदेश से अस्पताल के बढ़े हुए बिल से भी मरीज और परिजन बच सकेंगे , यदि कोई मरीज अगर किसी अस्पताल में भर्ती है और अगर वह अन्य अस्पताल में शिफ्ट होना चाहता है तो अपनी सहमति पर वहां से शिफ्ट हो सकेगा।

इसके साथ ही किसी विशेष दवाई या इंजेक्शन की खरीदी के लिए भी अस्पताल प्रबंधन मरीज या परिजनों पर दबाव नहीं डाल सकेंगे। बाहर यानी मार्केट से भी यह दवाई ली जा सकेगी।

Spread the love

13

इंदौर