Dec 07 2021 / 2:30 AM

इंदौर के राजेन्द्र नगर चौराहा से अन्नपूर्णा जाने वाले मार्ग पर बने ब्रिज पर अब वाहन चालकों को नही होगी परेशानी, डिवाइडर पर लगेगा कट, ई रिक्शा पर रूट लिखना होगा अनिवार्य

■जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में हुए कई निर्णय*

इंदौर। इंदौर के राजेन्द्र नगर चौराहा से अन्नपूर्णा जाने वाले मार्ग पर बने ब्रिज पर अब वाहन चालकों को घूमकर आने की परेशानी से मुक्ति मिलेगी। यहाँ, डिवाइडर पर कट लगाया जाएगा। इसी तरह अब शहर में चलने वाले ई रिक्शा पर रूट लिखना अनिवार्य होगा। मंगलवार को जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में शहर की ट्रैफिक व्यवस्था को लेकर कई निर्णय लिए गए।

सांसद शंकर लालवानी की अध्यक्षता में आज जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक संपन्न हुई। इस बैठक में कलेक्टर मनीष सिंह, डीआईजी मनीष कपूरिया, नगर निगम आयुक्त प्रतिभा पाल, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी हिमांशु चंद्र, अपर कलेक्टर पवन जैन, इंदौर विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी विवेक श्रोत्रिय, पुलिस अधीक्षक अरविंद तिवारी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिल पाटीदार, क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी जितेंद्र सिंह रघुवंशी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

बैठक में शहर की यातायात व्यवस्था को सुचारू बनाने के संबंध में चर्चा कर महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए।

बैठक में सांसद लालवानी ने कहा कि शहर की यातायात व्यवस्था को सुचारू बनाने के लिए तथा दुर्घटनाओं की रोकथाम के लिए सभी जरूरी प्रबंध सुनिश्चित किए जाएंगे। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वे पर्याप्त बल, संसाधन और उपकरणों की आवश्यकता के संबंध में प्रस्ताव तैयार कर प्रस्तुत करें, जिससे कि शासन को भेजा जा सके और आवश्यकताओं की पूर्ति हो सके। सांसद लालवानी ने बताया कि राजेन्द्र नगर चौराह से अन्नपुर्णा जाने वाले मार्ग पर बने ब्रिज पर नागरिकों को असुविधा हो रही है। उन्हें बहुत दूर जाकर वापस अन्नपूर्णा की ओर आना पड़ता है। बैठक में तय किया गया कि आवाजाही को बेहतर बनाने के लिये पुल के डिवाइडर पर कट लगाया जायेगा, साथ ही सिग्नल भी लगाया जायेगा।

इसी तरह बैठक में बताया गया कि देवगुराड़िया पर बेतरतीब तरीके से रेत के ट्रक खड़े होते है। बैठक में लालवानी ने कहा कि शराब पीकर वाहन चलाने वालों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जाये। इसके लिये निरंतर अभियान चलाया जाये। शहर में आवश्यकता के अनुसार स्पीड़ ब्रेकर बनाने के निर्देश भी दिये गये। साथ ही निर्देश दिये गये कि राष्ट्रीय राजमार्ग और स्टेट हाइवे पर ऐसे ढ़ाबे जिन्होंने बीच रोड़ पर डिवाइडर पर कट लगा लिये है उनके विरूद्ध कार्रवाई की जाये।


कलेक्टर मनीष सिंह ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वह यातायात को सुचारू बनाने के लिए तथा दुर्घटनाओं की रोकथाम के लिए चयनित किए गए ब्लैक स्पॉट पर जो भी आवश्यक कार्य हो उन्हें शीघ्र पूरा किया जाए। यातायात संबंधी कार्य को प्राथमिकता दी जाये। बैठक में बताया गया कि ट्रांसपोर्ट नगर, लौहा मण्डी, भंवरकुआ चौराहा, पंचकुईयां आदि क्षेत्रों में भारवाहक वाहनों के माल को लोड और अन लोड करने के लिये समय का निर्धारण किया जायेगा। इसके लिये संबंधित क्षेत्र के व्यापारियों से चर्चा कर समय तय करने के निर्देश दिये गये।


बैठक में बताया गया कि भंवरकुआ चौराहे पर लेफ्ट टर्न चौड़ा करने के संबंध में विश्वविद्यालय के साथ अंतिम दौर की चर्चा चल रही है। शीघ्र ही कार्य प्रारंभ कर दिया जायेगा। इसी तरह शहर चौराहों के ऐसे पेट्रोल पम्प जो यातायात में बाधक है, उन्हें हटाने की कार्रवाई की जायेगी। साथ ही राऊ गोल चौराहे पर यातायात सुचारू करने के लिये रोटरी की जगह सिग्नल लगाये जाने की संभावनाओं पर चर्चा की गई। बताया गया कि राष्ट्रीय राज मार्ग प्राधिकरण द्वारा के चौराहे पर ब्रिज बनाया जाना प्रस्तावित है। निर्देश दिये गये कि इस ब्रिज की डिजाइन के अनुसार रोटरी के संबंध में कार्रवाई की जाये। लवकुश चौराहे पर होने वाली दुर्घटनाओं की रोकथाम के लिये आवश्यक सुधार कार्य कराये जाने के निर्देश दिये गये।

बैठक में कलेक्टर मनीष सिंह ने निर्देश दिये कि रोड निर्माण कार्य के दौरान जहां सिग्नल हटा दिये गये थे, वहां पुन: सिग्नल लगाये जाये। उन्होंने निर्देश दिये कि इधर-उधर रेत के ट्रक खड़े करने वालों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जाये। बैठक में बताया गया कि ई-रिक्शा में रूट नम्बर लिखना अनिवार्य रहेगा। निर्धारित रूट के अलावा अन्य मार्ग पर चलने वाले ई-रिक्शा संचालकों के विरूद्ध कार्रवाई की जायेगी। बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यातायात अनिल पाटीदार ने शहर के यातायात के संबंध में प्रतिवेदन प्रस्तुत किया।

Spread the love

Indore