सावन के पहले सोमवार उज्जैन के महाकाल मंदिर में सुबह से ही दर्शनार्थियों की उमड़ी भीड़

उज्जैन। सावन का आज पहला सोमवार है। उज्जैन के महाकाल मंदिर में सुबह से ही दर्शनार्थियों की भीड़ लग गई। तड़के 3 बजे मंदिर के पट खुलने के बाद भस्म आरती हुई। आरती में आम श्रद्धालुओं को प्रवेश नहीं मिला। भस्म आरती के दौरान सिर्फ पंडे-पुजारी ही गर्भगृह में रहे। सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ दर्शन के लिए उमड़ पड़ी।11 बजे के बाद मंदिर में श्रद्धालुओं का प्रवेश बंद कर दिया गया। शाम 7 से 9 बजे तक श्रद्धालु फिर से दर्शन कर सकेंगे। मंदिर में कोरोना महामारी के कारण सावन महीने में प्री-बुकिंग पर सिर्फ 5,000 लोगों को प्रवेश देना तय हुआ था, लेकिन सोमवार सुबह 11 बजे तक 15 हजार से ज्यादा श्रद्धालु महाकाल के दर्शन कर चुके थे।

आज भगवान महाकाल की पहली सवारी निकलेगी, शाम 4 बजे शाही ठाठ के साथ राजाधिराज नगर भ्रमण पर निकलेगे। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए सवारी मार्गों पर भक्तों का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। मंदिर की वेबसाइट, फेसबुक पेज आदि पर आनलाइन दर्शन होंगे। मंदिर के सभा मंडप में दोपहर करीब 3.30 बजे मंदिर की परंपरा अनुसार कलेक्टर आशीषसिंह भगवान के मनमहेश रूप का पूजन करेंगे। पश्चात पालकी नगर भ्रमण के लिए रवाना होगी। मंदिर के मुख्य शहनाई द्वार पर सशस्त्र बल की टुकड़ी अवंतिकानाथ को सलामी देगी। इसके बाद राजा का नगर भ्रमण शुरू होगा। इस बार भी सवारी नए छोटे मार्ग से निकाली जाएगी।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी सपरिवार महाकाल की पूजा की

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी सपरिवार महाकाल की पूजा की। सीएम शिवराज ने कहा, आज भगवान महाकाल की नगरी उज्जैन में श्रावण माह के प्रथम सोमवार को प्रभु के दर्शन और पूजन के लिए आया हूं। भगवान महाकाल से प्रार्थना है कि वे हमें सभी विपत्तियों से लड़ने की शक्ति दें। मध्यप्रदेश और देश का कल्याण करें। सभी जीवों का कल्याण करें। सबके जीवन में सुख-समृद्धि लाएं और सबकी मनोकामनाएं पूरी करें।

महाकाल लाइव दर्शन

Spread the love

इंदौर