इंदौर में लूट के लिए हुई थी शिवसेना नेता रमेश साहू की हत्या, पुलिस द्वारा अंधे कत्ल का पर्दाफाश, 7 गिरफ्तार, प्रॉपर्टी विवाद की भी थी आशंका

इंदौर। इंदौर में शिवसेना नेता रमेश साहू की हत्या लूट के लिए की गई थी। कुक्षी जिला धार की गिरोह ने यह वारदात की थी। पुलिस द्वारा अंधे कत्ल का पर्दाफाश कर 7 गिरफ्तार कर लूट जा माल बरामद कर लिया है। इस हत्या के पीछे प्रॉपर्टी विवाद की भी थी आशंका जताई जा रही थी जो सही नही निकली।

उल्लेखनीय है कि गत 02 व 3 सितंबर की दरमियानी रात उमरीखेड़ा खण्डवा रोड पर स्थित ढाबे पर शिव सेना नेता रमेश साहू की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। विवेचना के दौरान लूटपाट व डकैती जैसे तथ्य पाये गये थे जिसमें मृतक के परिजनों से अज्ञात आरोपियों ने सोने चांदी के जेवरात आदि भी हथियार दिखाकर डरा धमकाकर लूटे थे अतः मामले में धारा 395, 396, 397, 120-बी 25, 27 आर्म्स एक्ट का ईजाफा किया गया था।

उपरोक्त प्रकरण में मृतक राजनीतिक पृष्ठभूमि से ताल्लुकात रखता था अतः देर रात्रि रेस्टोरेण्ट में घुसकर गोली मारकर की गई हत्या से सारे शहर में सनसनी फैल गई थी।


छानबीन के दौरान क्राईम ब्रांच की टीम को पप्पु उर्फ राहुल पिता देवी सिह रणवीर जाति भिलाला उम्र 30 साल हाल मुकाम – उमरीखेडा मेन खण्डवा रोड थाना तेजाजी नगर इन्दौर के संबंध में सुराग मिले जो कि संदेहास्पद व्यक्ति था तथा मृतक के ढाबे के पास ही विगत 02 वर्ष से रहता था तथा वह मूल रूप से निवासी ग्राम मोहली थाना मनावर जिला धार का रहने वाला है। वह मृतक रमेश साहू के बारे में अधिकांश बातें जानता था।

राहिल को गांव खामखेड़ा कसरावद में नदी के किनारे से पीछा कर पकड़ा तो पूछताछ में अन्य आरोपियों के सुराग मिले तथा मामले का पटाक्षेप करने के संबंध में भी कई जानकारियां पुलिस टीम के हाथ लगी।

आरोपी राहुल ने मृतक के घर की जानकारी आरोपी प्रेम सिंह व कमल सिरवी को दी और घटना कारित करने के पूर्व दो बार घर की मृतक के ढाबे के आस पास के क्षेत्र की रैकी की। आरोपी प्रेम सिंह जोकि घटना का मुख्य मास्टर माईंड है उसने अपने अन्य साथियों को जानकारी दी और योजनाबद्ध तरीके से घटना वाली दरमियानी रात्रि सभी आरोपीगण प्रेमसिंह पिता लालसिंह चौहान उम्र 34 साल नि. कालिया खुर्द थाना कुक्षी जिला धार, सुनील पिता सुरेसिंह चौहान उम्र 22 साल नि. ग्राम इमलीपुरा थाना कुक्षी जिला धार, कालू पिता धनसिंह सोलंकी उम्र 35 साल नि. ग्राम लोहारा इमलीपुरा थाना कुक्षी जिला धार, विजय पिता धनसिंह उम्र 19 साल नि. ग्राम इमलीपुरा जिला धार, अन्तिम पिता सड़िया धनगर उम्र 30 साल नि. ग्राम लोहारा थाना कुक्षी जिला धार व कमल पिता खेमाजी सिरवी उम्र 42 साल नि. ग्राम कापसी कुक्षी जिला धार सहित एक अन्य आरोपी, सभी धार जिले के ग्राम तलवाडा में इकट्ठे होकर बोलेरो वाहन क्रमांक MP 11 BE 0682 से सवार होकर घटना स्थल (मृतक का घर/ढाबा) तक आये।

योजना के मुताबिक मृतक के घर में आरोपी विजय, रेम सिंह, प्रेम सिंह चौहान और सुनील चौहान कट्टे और हथियार लेकर घुसे थे। बुलेरो गाडी में ड्रायवर अंतिम व कालू चौहान, तथा कमल सिरवी राउ चौराहे के पास वारदात के बाद भागने के लिये इंतजार करते रहे। आरोपी विजय सोलंकी के पास एक देशी कट्टा व राउण्ड, प्रेम सिह के पास एक देशी कट्टा व राउण्ड, सुनील के पास भी देशी कट्टा व राउण्ड एवं रेम सिह के पास हसियाँ था लेकिन आरोपी राहुल उर्फ पप्पू घटना की योजना में शामिल था व वारदात के वक्त कोई पहचान ना ले इस कारण नहीं आया। कुल 04 आरोपी ढाबे में लूटपाट करने घुसे तथा 03 आरोपी बुलेरो में इंतजार करते रहे जो 04 लोग मृतक के घर के पीछे तरफ से घुसे थे।

उन्होंनें पहले कुत्तों के भौकने पर उन्हें कुछ खाने की सामग्री रोटी बिस्किट तथा कुछ मांस के टुकड़े खिलाये उसके बाद भी कुत्तों को भगाने के लिये प्रेम सिंह द्वारा हवाई फायर किया गया।

आरोपी विजय सोलंकी मृतक के कमरे में गया था और शेष तीन रेम सिह, सुनील, के द्वारा मृतक की पत्नी व लडकी के साथ में मारपीट कर के जेबरात लूटे गये थे। आरोपी विजय के साथ मृतक रमेश साहू द्वारा विरोध व हाथापाई की गई तो आरेपी विजय ने उस पर फायर कर दिया जिसकी गोली मृतक को गर्दन के पास लगी और मौके पर उसकी मृत्यु हो गयी बाद आरेपियान लूट का सामान लेकर बुलेरो में सवार होकर भाग गये।

प्रकरण में अब तक कुल 07 लोगों को गिरफ्तार किया गया। घटनास्थल पर आरोपी प्रेम सिंह के द्वारा भी हवाई फायर किया गया था और घर में घुसकर लूटपाट करते वक्त दिव्यांग लड़की का हाथ तोड़ा और उसके साथ मारपीट की। आरोपियों को क्राईम ब्रांच इंदौर की टीम ने जिला धार के कुक्षी थाना क्षेत्रांतर्गत ग्राम बढ़गियार, कापसी, इमलीपुरा, लुहारा, कालिया खोदरा के जंगल, नदी के किनारे, हाट बाजार तथा खेतों में से घेराबंदी कर पकड़ा। प्रकरण के आरोपी जिसने रमेश साहू को गोली मारी थी उसे गुजरात के देवभूमि द्वारिका क्षेत्र के पास के गांव से हिरासत में लिया जहां वह फरारी काटने चला गया था और वहा मजदूरी करने लगा था तथा छुपकर टपरिया में रह रहा था। पुलिस की सूचना मिलेन पर वह भागने लगा जिसे वहां खेतों में पुलिस टीम ने धरदबोचा।

आरोपियों के कब्जे से दो कंगन, गले का हार, मांग टीका, दो झुमके, दो चूडियां, सोने की रुद्राक्ष माला, सोने की दो चूड़ियाँ, एक जोडी कान की सोने की कनचडी, सोने का एक टॉप्स, दो अंगूठी सोने की, एक कड़ा चांदी का, एक जोडी पायजेब चांदी की इतयादि बरामद हुआ है। साथ ही वारदात में प्रयुक्त एक चार पहिया वाहन बुलेरो क्रमांक MP 11 BE 0682 तीन देशी कट्टे व चार जिन्दा कारतूस भी बरामद हुये हैं।

उक्त सराहनीय कार्य करने वाली पूरी टीम को पुलिस महानिरीक्षक हरिनारायण चारी मिश्र द्वारा 30,000 के नगद पुरस्कार से पुरस्कृत करने की घोषणा की गई है।

Spread the love

11

इंदौर