Dec 07 2021 / 2:43 AM

इंदौर हाई कोर्ट में छुट्टी वाले दिन हुई विशेष सुनवाई, दिवंगत पिता के दसवें/तेरहवीं के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए जेल में बंद आरोपी को मिली अंतरिम जमानत


इंदौर। मंगलवार को इंदौर हाई कोर्ट में छुट्टी वाले दिन एक केस में वीडियो कांफ्रेंसिंग से विशेष सुनवाई हुई। इसमे दिवंगत पिता के दसवें/तेरहवीं के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए जेल में बंद आरोपी को अंतरिम जमानत स्वीकार की।

मामला इस प्रकार है कि इंदौर के लसूड़िया थाने के धोखाधड़ी के एक केस में आरोपी गौरव अधिकार निवासी विदुर नगर 6 मार्च 2021 को गिरफ्तार होने के बाद से जेल में है। हाल ही मे गत 7 अक्टूबर को गौरव के पिता सुनील दामोदर अधिकार का हार्ट अटैक से निधन हो गया।

गौरव की ओर से सेशन कोर्ट में अंतरिम जमानत मांगी गई। यह नही मिलने पर उसकी तरफ से एडवोकेट नीलेश मनोरे व प्रवीण योगी ने अंतरिम जमानत की याचिका पर हाई कोर्ट में सुनवाई हेतु मप्र हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस को ऑनलाइन आवेदन देकर स्पेशल पीठ गठित करने की मांग की क्योंकि अभी हाई कोर्ट में छुट्टियां चल रही है।


इस पर चीफ जस्टिस के निर्देश पर आज मंगलवार को जस्टिस सुबोध अभ्यंकर की विशेष बेंच के समक्ष सुनवाई हुई। कोर्ट को बताया गया कि गौरव इकलौता बेटा है और उसके दिवंगत पिता का दशवां आगामी 16 और बारहवे का कार्यक्रम 18 अक्टूबर को है। तर्क में कहा गया कि उसे जमानत नहीं दी गई तो वह अपने पिता के अंतिम क्रिया की रस्में नहीं निभा पाएगा और वह बेटे के अपने दायित्वों के निर्वाहन से चूक जाएगा।

पिता की मृत्यु के बाद उनकी मुक्ति के लिए उनके उत्तर कार्य करना, उसका दायित्व है। अतः उसे जमानत पर छोड़ा जाए। कोर्ट ने याचिकाकर्ता की तरफ से रखे गए तर्कों को स्वीकारते हुए गौरव को दस दिन की अंतरिम जमानत पर रिहा करने के आदेश दिए।

Spread the love

Indore