कोरोना काल मे इंदौर के सेंट रैफल्स की अनुकरणीय पहल, तीन महीने की फीस माफ करने का लिया निर्णय,पालकों ने स्कूल के निर्णय को बताया साहसिक, लगभग सात करोड़ की फीस होगी माफ

इंदौर। कोरोना काल में जहां स्कूल संचालक फ़ीस को लेकर पालकों पर लगातार दबाव बना रहे हैं वहीँ इंदौर शहर के प्रतिष्ठित सेंट रेफल्स स्कूल ने अनुकरणीय निर्णय लिया है। स्कूल प्रबंधन ने कोरोना काल में पालकों की आर्थिक परेशानी और विद्यार्थियों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए तीन माह (अंतिम क्वार्टर) की फ़ीस माफ़ करने का फैसला किया है।


सेंट रैफल्स स्कूल में इस समय करीब चार हजार बच्चे अध्यनरत है। स्कूल प्रबंधन ने इन सभी विद्यार्थियों की एक तिमाही का शुल्क पूरी तरह माफ़ करने का निर्णय किया। स्कूल प्रबंधन के इस निर्णय पर पालकों ने स्कूल प्रबंधन व प्राचार्य सिस्टर जेन्सी जोजेफ का आभार मानते हुए इसे स्वागत योग्य कदम बताया। स्कूल के पालक संघ ने इस निर्णय के लिए प्राचार्य का अभिनंदन भी किया।

बता दें कि इससे पहले स्कूल ने इंस्टॉलमेंट्स की संख्या भी बढ़ाई थी। स्कूल प्रबंधन ने 4 इन्सटॉलमेंट में भरी जाने वाली फीस को बढ़ाकर 7 कर दिया था। अब स्कूल ने 3 महीने की फीस माफ करने का फैसला किया है।


शिक्षको का भी योगदान


कोरोना काल में स्कूल के शिक्षकों ने भी अहम योगदान दिया है। शिक्षकों ने अपने विद्यार्थियों की पढ़ाई का नुकसान न हो इसके लिए खुद को अपडेट कर उन्हें तकनीक के माध्यम (ऑनलाइन क्लासेस) से शिक्षा दी जा रही है। आधे घंटे की क्लास के लिए शिक्षकों को पहले खुद तीन घंटे तैयारी करनी होती है. इस तरह की शिक्षा देना शिक्षकों के लिए भी एक नया अनुभव था लेकिन उन्होंने जल्द ही इस शिक्षा प्रणाली में खुद को ढाल कर विद्यार्थियों को होने वाले नुकसान से बचाया।

Spread the love

3

इंदौर