इंदौर में वेब सीरिज का झांसा देकर मॉडल युवतियों के आपत्तिजनक विडियों अश्लील साईटस/एप्स पर अपलोड करने का मुख्य आरोपी ब्रजेन्द्र सिंह सायबर सेल की गिरफ्त में


इंदौर। इंदौर में वेब सीरिज बनाने का झांसा देकर मॉडल युवतियों के आपत्तिजनक विडियों अश्लील साईटस/एप्स पर अपलोड करने का मुख्य आरोपी ब्रजेन्द्र सिंह सायबर सेल की गिरफ्त में आया है।

एसपी राज्य सायबर सेल इंदौर जितेंद्र सिंह ने बताया कि मुखबीर द्वारा सूचना प्राप्त हुई कि आरोपी ब्रजेन्द्र सिंह अपने भाई व अन्य साथियों के साथ इंदौर में आया हुआ हैं व अपनी जमानत के लिए प्रयासरत हैं जिसके लिए आज वह मयुर हास्पीटल पर किसी से मिलने वाला हैं।

उस पर सायबर पुलिस की टीम द्वारा मुख्य आरोपी ब्रजेन्द्र सिंह गुर्जर उर्फ सोनू पिता कमलसिंह गुर्जर उम्र 30 साल नि0 मकान नम्बर 71 वार्ड नम्बर 11 तह0 लाहर जिला भिण्ड को गिरफ्तार कर लिया गया। पूछताछ में उसके द्वारा आवेदिका की एडल्ट वेव सीरीज बनवाना कबुल किया एवं इंदौर से लेकर माया नगरी मुम्बई तक के लोगों का शामिल होना बताया।


इसके पूर्व इंदौर की सायबर सेल ने इसी मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया था जिनके नाम मिलिंद डावर पिता अनिल डावर उम्र 26 साल नि0 102 रौनक आर्च 21/4 रेसकोर्स रोड इंदौर और अंकित सिंह चावडा पिता संजय सिंह चावडा निवासी 62 गुरु गोविंद कॉलोनी निषा गार्डन के पीछे बाणगंगा इंदौर है।
एसपी राज्य सायबर सेल इंदौर जितेंद्र सिंह ने बताया कि इनके द्वारा इंदौर के एरोड्रम क्षेत्र के फार्म हाउस पर मॉडल की अश्लील फिल्म बनाई गई थी।


आरोपियों से पूछताछ में यह बात सामने आई कि मुम्बई में बैंठे कथित अशोक सिंह व विजयानंद पाण्डेय पुरे देश में अश्लील फिल्म बनाने का यह गौरखधंधा संचालित कर रहे हैं। पोर्न बेव साईट्स, एडल्ट बेव साईट्स, ओटीटी प्लेटफार्म पर इन अश्लील फिल्मों का लाखों रुपए में सौदा होता हैं।

आरोपी मिलिंद डॉवर इंदौर मेें होने वाले फैशन शों एवं एड के लिए भी बैकग्राउंड आर्टीस्ट एवं कास्टींग का काम कर चुका है। आरोपी मिलिंद डावर अपना व्यवसाय एमडीएफएम मॉडलिंग ऐजेंसी के नाम से चालाता था एवं आरोपी अंकित चावडा एनएमएच फिल्म प्रोडक्शन हाउस में कैमरामैन आपरेटर के पद पर करता है।

आरोपी बडी बडी नामचिन फिल्म प्रोडक्शन जैसे टी-सीरिज एवं अल्ट बालाजी में काम दिलाने के नाम पर एडल्ट बेव सीरिज बनवाता था। इंदौर से लेकर माया नगरी मुम्बई तक इन आरोपीयों का नेटवर्क फैला है।

पकड़े गए आरोपियों ने पुछताछ के दौरान बताया कि फिल्म को बनाने में डायरेक्टर ब्रजेन्द्र गुर्जर, राजेश गुर्जर, अंकित चावडा, मिलिंद डाबर सुनिल जैन, अनिल द्विवेदी, विजयानंद पाण्डेय, अजय गोयल, गजेन्द्र सिंह व अन्य लोगों का सहयोग रहा हैं। इसी आधार पर ब्रजेन्द्र सिंह को पकड़ा गया। बाकी की तलाश जारी है।


यह हुई थी शिकायत


सायबर सेल को एक युवती द्वारा शिकायत की गई थी कि बालाजी में बेव सीरीज बनाने के नाम पर उसकी एक एडल्ड वेब सीरिज बनाकर पोर्न साईट पर डाल दी गई। प्रकरण की विवेचना मंे संदेही मिलिंद डावर से सख्ती से पुछताछ करने पर उसके द्वारा आवेदिका को सेट पर ले जाना व एडल्ट वेव सीरीज बनवाना कबूल किया एवं इंदौर से लेकर मुम्बई तक के लोगों का शामिल होना बताया।

​उक्त प्रकरण के खुलासा करने में निरी0 राशिद अहमद, उप0निरी0 संजय चौधरी, उप0निरी0 दिव्या जैन आर0 विवेक मिश्रा, गजेन्द्र सिंह राठौर, विजय बडोदकर, म0आर0 विनिता त्रिपाठी की भूमिका रही है।

Spread the love

11

इंदौर