इंदौर का नवनिर्मित पिपलिया हाना फ्लाय ओवर का नामकरण पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी के नाम हुआ, इंदौर में केबल कार की दिशा में भी बड़े कदम

-मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने इंदौर में 200 करोड़ रूपए से अधिक लागत के 16 विकास कार्यों का किया लोकार्पण/भूमिपूजन

इंदौर। इंदौर का नवनिर्मित पिपलिया हाना फ्लाय ओवर का नामकरण पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी के नाम किया गया है। इसी के साथ इंदौर में केबल कार की दिशा में भी कदम आगे बढ़ गए हैं।

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने बुधवार को इंदौर में 200 करोड़ रूपए से अधिक लागत के 16 विकास कार्यों का लोकार्पण/भूमिपूजन किया।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि संस्कारी, सेवाभावी और सपनों के शहर इंदौर को विश्व का सबसे सुंदर शहर बनाया जाएगा। इसके लिए इंदौर के सभी जनप्रतिनिधियों ने प्रतिबद्ध होकर निर्णय लिया है। यहां अब इंदौर मेट्रों का काम भी तेजी से शुरू किया जाएगा। इंदौर में यातायात को और अधिक सुगम बनाने की दिशा में कार्ययोजना पर कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। इंदौर शहर को विश्व का सुंदर शहर बनाने की दिशा में केबल कार का कार्य प्रारंभ करने की ओर भी बढ़ गए हैं।

इसके अलावा इंदौर में कॉरिडोर की तरह ही पृथक से बॉयपास का निर्माण भी किया जाएगा। मुख्यमंत्री चौहान बुधवार को एक दिवसीय भ्रमण के दौरान इंदौर में पिपल्याहाना क्षेत्र में नवनिर्मित फ्लाय ओव्हर के लोकार्पण कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। साथ ही मुख्यमंत्री चौहान ने लोकार्पित इस नवीन फ्लाय ओव्हर का नामकरण देश के भूतपूर्व प्रधानमंत्री स्व. श्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर किया।

प्रदेश में हुक्का पार्टी नहीं होगी

इंदौर में बुधवार को एक दिवसीय भ्रमण पर रहे मुख्यमंत्री चौहान ने फ्लाय ओव्हर के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में हुक्का पार्टी नहीं होने दी जाएगी। नशे की परंपरा इंदौर जैसे शहर में पनपने नहीं दी जाएगी। भूमाफिया की तरह ही प्रदेश में ड्रग माफिया भी बख्से नहीं जाएंगे। जो लोग बेटियों के जीवन के साथ खिलवाड़ करते है, वे सचेत हो जाएं। साथ ही मुख्यमंत्री श्री चौहान ने यह भी कहा कि लव जेहाद प्रदेश की जमी पर चलने नहीं दिया जाएगा। इसी की तरह पत्थरबाजों पर भी कड़ी कार्यवाही की जाएगी। पत्थरबाजी जैसी गतिविधियां शासकीय व निजी संपत्ति को नुकसान पहुंचाती है। इसके लिए भी आजीवन कारावास जैसा कड़ा कानून बनाया जाएगा।

इंदौर आईटी का नया डेस्टीनेशन होगा

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बैंगलोर और हैदराबाद से भिन्न इंदौर शहर को भी आईटी का नया डेस्टीनेशन बनाया जाएगा। यहां बड़े उद्योगों के अलावा छोटे उद्योगों के लिए भी नए मार्ग अपनाएं जाएंगे। इंदौर में ही रोजगार का नया हब ऊभारने के सारे प्रयास किए जाएंगे। अब इंदौर शहर सुंदर, स्वच्छ, संस्कारित, कचरामुक्त के अलावा रोजगारयुक्त शहर भी बनाएंगे। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सेतू निर्माण की टीम को स्मृति चिन्ह भी भेंट किया।

कार्यक्रम को स्थानीय सांसद शंकर लालवानी और विधायक महेंद्रसिंह हार्डिया ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में कृष्णमुमारी मोघे, विधायक आकाश विजयवर्गीय, सुदर्शन गुप्ता उपस्थित रहे। कार्यक्रम के शुभारंभ में संभागायुक्त डॉ. पवन शर्मा ने मुख्यमंत्री को तुलसी का पौधा भेंट किया। वहीं कलेक्टर मनीष सिंह ने जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट एवं संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर को तुलसी का पौधा भेंट किया।

इन कार्यों के हुए लोकार्पण व भूमिपूजन

इस अवसर पर मुख्यमंत्री चौहान ने विधानसभा क्षेत्र क्रमांक इंदौर-5 और राऊ विधानसभा क्षेत्र के लिए 200 करोड़ रूपए से अधिक लागत के 16 विकास कार्यों का लोकार्पण एवं भूमिपूजन भी किया। इसमें स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत 107 करोड़ रूपए लागत के वेस्ट टू एनर्जी प्लांट का भूमिपूजन किया। इसके अलावा अमृत प्रोजेक्ट जलप्रदाय के अंतर्गत निर्मित 8 ओवरहेड टैंक का लोकार्पण भी शामिल है। इनकी लागत 18.30 करोड़ रूपए है।

अमृत प्रोजेक्ट सीवरेज के अंतर्गत निर्मित 4 एसटीपी का लोकार्पण किया, जिनकी लागत 65.16 करोड़ रूपए है। साथ ही नगर निगम द्वारा पिपल्याहाना तालाब पर निर्मित लगभग 3 करोड़ रूपए की लागत के 0.5 एमएलडीएसटीपी का लोकार्पण भी किया। स्मार्ट सिटी योजनांतर्गत इनकम्ब्युशन सेंटर एवं 56 दुकान के विकास कार्यों का लोकार्पण किया, जिसकी लागत 7.19 करोड़ रूपए है। कार्यक्रम में 15 कार्यों का लोकार्पण भी किया, जिसकी लागत 93.60 करोड़ रूपए है।

Spread the love

इंदौर