इंदौर में तांत्रिक क्रियाओं के लिए बाघ (टाइगर) की खाल व कछुओं की तस्करी करने वाले तीन गिरफ्तार, बाघ की पुरानी खाल व 2 कछुए बरामद, मिल जाती थी मुँहमाँगी कीमत


इंदौर। इंदौर में पुलिस ने तांत्रिक क्रियाओं के लिए बाघ (टाइगर) की खाल व कछुए बेचने वाले तीन तस्करों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से बाघ की पुरानी 25 साल पुरानी खाल व 2 कछुए बरामद किए गए हैं।

मुखबिर के माध्यम से सूचना मिली थी कि खजराना थाना क्षेत्र के वाघेला फार्म हाउस के पास तीन व्यक्ति बाघ (टाइगर) की खाल व कछुए का सौदा करने की फिराक मे घुम रहे है। इस पर घेराबंदी कर आरोपीगण प्रकाश पिता बाबूलाल सेन उम्र 35 साल निवासी 04 नीम गली मंहू इन्दौर, सुनील पिता राजेंद्र प्रसाद बसोड उम्र 43 साल निवासी कुलकर्णी का भट्टा सुभाष नगर परदेशीपुरा, व राम पिता जगन्नाथ चैहान उम्र 38 साल निवासी उमरीखेडा तेजाजी नगर इन्दौर को पकडा गया।

जिनसे एक 20-25 साल पुरानी बाघ (टाइगर) की खाल व 2 कछुए विधिवत् जप्त किये गये। आरोपियों के विरूद्ध धारा 51 वन्य जीव संरक्षण अधिनियम 1972 के अंतगर्त प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गया तथा वन्य विभाग को सूचित किया गया। दौरानें विवेचना प्रकरण मे धारा 46 ख, 09 वन्य प्राणी का शिकारी अधिनियम व धारा 39 प्राणी सरकार की संपत्ति होना का समावेश किया गया।


अभी तक प्राप्त जानकारी के अनुसार बाघ (टाइगर) की खाल व कछुओं का इस्तेमाल तांत्रिक क्रियाओं मे किया जाता है, जिसके लिए मुह मांगी कीमत आरोपियों को मिल जाती थी। पुलिस टीम द्वारा आरोपियों के इस संबंध मे विस्तृत पूछताछ की जा रही है जिससें अन्य खुलासा होने की संभावना है।

उक्त कार्यवाही में एडीजी योगेश देशमुख, आईजी हरिनारायण चारी मिश्रा, एसपी विजय खत्री, एएसपी राजेश सिंह रघुवंशी व सीएसपी अनिल सिंह राठौर के निर्देशन में थाना प्रभारी खजराना दिनेश वर्मा, उनि शिवकुमार मिश्रा, आर 3779 पंकज मीणा, आर 3788 राजकुमार, आर 3087 प्रवीण, आर 569 लोकेंद्र, आर 3530 पंकज व आर 3784 शंशाक की भूमिका रही। आईजी ने पुलिस टीम को 20 हजार रूपयें के नगद ईनाम से पुरूस्कृत करने की घोषणा की।

Spread the love

इंदौर