इंदौर में दो अंधे कत्लों का पर्दाफाश, एमवाय के सामने चढ़ाव पर सो रही महिला की हत्या कर दी थी, वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई थी, कोरोना टेस्ट को लेकर चिढ़ाने के विवाद में हुई थी एक अन्य हत्या

इंदौर। इंदौर पुलिस ने दो अंधे कत्लों का पर्दाफाश किया है। इनमे एक मामले में एमवाय के सामने चढ़ाव पर सो रही महिला की हत्या कर दी गई थी। यह वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई थी। दूसरी हत्या कोरोना टेस्ट को लेकर चिढ़ाने के विवाद में हुई थी।गत 08 अक्टूबर को इंदौर के थाना संयोगितागंज क्षेत्रान्तर्गत एमवाय के सामने बाफना चौराहे के पास बी.सी. चेम्बर के शटर के बाहर एक अज्ञात महिला मृत अवस्था मे मिली थी।


विवेचना के दौरान घटना स्थल पर मिले सीसीटीवी फुटेज एवं मुखबिर की सूचना के आधार पर घटना घटित करने वाले आरोपी शिवराज पिता फगज परते उम्र 19 वर्ष निवासी बालाडोंगरी थाना बीजादेही जिला बैतूल को गिरफ्तार कर पूछताछ की गई।

उक्त आरोपी ने पुलिस को गुमराह करने के लिये पहले अपना नाम अजय धुर्वे निवासी चापडा थाना बागली जिला देवास का बताया। चापडा मे तस्दीक की गई तो आरोपी के द्वारा बताया गया नाम व पता गलत निकला। तब पुलिस टीम ने आरोपी से पुनः पूछताछ की गई तो उसने आपना नाम शिवराज परते बताया और एक नम्बर भी बताया। पुलिस ने उसके द्वारा बताये गये नम्बर पर चर्चा की गई तो उक्त नम्बर रमेश बारस्कर भृत्य बाल सुधारगृह बैतूल का निकला, जिसने बताया कि उक्त आरोपी उसके बाल सुधारगृह मे थाना विचैली के धारा 376 भादवि के प्रकरण मे लगभग 01 वर्ष निरुद्ध रहा था, जिसकी दो से तीन माह पूर्व ही जमानत हुई है।

आरोपी शिवराज ने पूछताछ में बताया कि नवलखा बस स्टैण्ड पर महिला ने उससे 400/-रु. सम्बन्ध बनाने के लिए अग्रिम लेकर शाम को एम.वाय.एच. के पास मिलने का वादा किया था, जब शाम को आरोपी एम.वाय.एच के पास अज्ञात मृतिका से मिला तो उसने सम्बन्ध बनाने से एवं 400 रु वापस करने से मना कर दिया। इस बात से क्षुब्ध होकर आरोपी ने शराब पी फिर रात्रि में नशे मे आकर बी.सी. चेम्बर के शटर के बाहर सीढियो पर सोती हुई महिला को बाल पकड़कर खीचकर प्लास्टिक की कार्टून बाँधने वाली सफेद रंग की स्ट्रेप से गला घोटकर तथा घटना स्थल पर ही लगे इन्टरलॉक टाईल्स निकाल कर टाईल्स से सिर मे मारकर चोट पहुँचा अज्ञात मृतिका की हत्या कर दी तथा आरोपी उसका एक बैंग उठाकर ले गया था।

आरोपी के पास से मिले मृतिका के बैग जिसमे 03 बैंक खातो की पासबुक, टी.डी.आर तथा मृतिका के पासपोर्ट साईज के फोटोग्रॉफ एवं एक आधारकार्ड बनवाने के लिये बनाया गया एफिडेबिट व अन्य सामग्री तथा आरोपी के घटना के समय पहने हुए कपडे जप्त किए गए है। पुलिस द्वारा मृतिका के परिजनो की तलाश की जा रही है। आरोपी के बारें में थाना प्रभारी विचैली जिला बैतूल से जानकारी प्राप्त करने पर पता चला कि आरोपी शिवराज के विरुद्ध एक 02 वर्ष की मासूम बालिका के साथ वर्ष 2017 को दुष्कर्म करने के कारण अप.क्र 374/17 धारा 376 भादवि एवं लैंगिक अपराधो से बालको का संरक्षण अधिनियम 2012 के अन्तर्गत अपराध पंजीबद्ध होकर, आरोपी को बाल सुधार गृह मे भेजा गया था, जहां से उसकी दो से तीन माह पूर्व ही जमानत हुई है।

पुलिस द्वारा आरोपी को गिरफ्तार किया गया है, जिसके संबंध में विस्तृत जानकारी प्राप्त की जा रही है। इस जघन्य सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा करने मे डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्र, एसपी विजय खत्री के मार्गदर्शन में थाना संयोगितागंज के थाना प्रभारी राजीव त्रिपाठी , प्रउनि मंजुलता अहिरवार , उनि.अक्षय कुशवाह , प्र.आर 80 हरीश , आर .1481 रिकु राजपूत , आर 93 संजय , आर .3238 विश्वास , आर 3148 विनोद, म.आर 1796 खुशबू , म.आर 3161 शालिनी व एफ.आर.वी के आर 1181 सुनील पटेल एवं पायलेट जीवन का योगदान रहा ।

चिढ़ाने के विवाद में हत्या

एक अन्य घटना में गत 7 अक्टूबर को देपालपुर थाना क्षेत्र में ग्राम मुंडला खिमलावदा रोड पर पुलिया के नीचे पानी मे अज्ञात व्यक्ति का रक्त रंजिश शव पडा मिला था। उक्त मृतक की पहचान शाहिद अली पिता मो अली उम्र 30 साल निवासी ग्राम मुंडला के रूप मे हुई थी।
मामले की छानबीन में ज्ञात हुआ कि मृतक शाहिद अक्सर ग्राम बनेडिया तक वाॅकिंग करने जाता था, तक एक बार बनेडिया केे कृणाल उर्फ विपुल ने उसे चिढ़ाते हुए कहा था कि तू कोरोना काल मे घूमता है, तूने कोरोना टेस्ट कराया की नही व उसे चिडाने लगे जिस पर शाहिद ने कुणाल उर्फ विपुल को गाली गुप्ता की थी।

06 अक्टूबर 20 को जब कुणाल और अपनी मोटर सायकल से मुंडला तरफ जा रहे थे तो मुडंला-खिमलावदा रोड की पुलिया के पास शाहिद दिखाई दिया तो कुणाल और राहुल शाहिद अली के साथ गाली गलौज कर विवाद करने लगे। कुणाल व राहुल ने शाहिद के साथ डंडे से मारपीट कर उसकी हत्या कर दी। उक्त जानकारी के आधार पर राहुल व कुणाल से बारीकी से पूछताछ की गई जिनके द्वारा शाहिद अली की हत्या करना स्वीकार किया। पुलिस टीम द्वारा आरोपी राहुल उर्फ जालम पिता पुरूषोत्तम जाति खाति निवासी बनेडिया एवं कुणाल उर्फ विपुल पिता महेद्र पटेल निवासी बनेडिया को गिरफ्तार किया गया।

उक्त कार्यवाही मे एसपी महेशचंद्र जैन निर्देशन में अति पुलिस अधीक्षक महू अमित तोलानी, एसडीओपी देपालपुर आशुतोष मिश्रा, थाना प्रभारी देपालपुर मीणा कर्णावत, उनि अक्षय खडिया, उनि दीपक राठौर, आर 857 राजपाल गुर्जर, आर 437 राजेश चौहान, आर 2326 देवेंद्र गुर्जर, आर 3841 सुनील यादव, आर 3421 विरेंद्र पंवार, आर 887 रवि तिवारी की भूमिका रही।

Spread the love

10

इंदौर