अरबपति परिवार की डॉ हिना दीक्षा के बाद बनी विशारदमाल

अरबपति परिवार की बेटी गोल्ड मेडलिस्ट डॉ हिना हिंगड ने सांसारिक जीवन त्याग दिया है। बुधवार को हिना ने सूरत में दीक्षा ग्रहण की। हिना ने पूरे विधि और जैन परंपरा के अनुसार दीक्षा ग्रहण की।

उनका दीक्षा कार्यक्रम बुधवार सुबह से शुरू होकर दोपहर के बाद संपन्न हुआ। जैन परंपरा से दीक्षा लेने के बाद हिना हिंगड़ की पहचान अब साध्वी श्री विशारदमाल हो गई।

पिछले 12 सालों से अपने माता पिता और परिवार के दूसरे सदस्यों को दीक्षा लेने के लिए मना रही थीं। हिना का मानना है कि सांसारिक जीवन छोड़कर जैन भिक्षु बन जाना हर किसी के बस की बात नहीं है।

Spread the love

20

इंदौर