इंदौर के चिड़ियाघर में 22 फुट ऊंचे टाइगर के पिंजरे में कूदने के लिए चढ गया युवक, कर्मचारियों ने मशक्कत से बचाया, पुलिस को सौंपा

इंदौर। इंदौर के चिडिय़ाघर में शुक्रवार सुबह करीब 22 फुट ऊंचे टाइगर के पिंजरे में कूदने के लिए एक युवक चढ गया। यह देख वहां के कर्मचारियों ने मशक्कत के बाद उसे बचाया और पुलिस को सौंप दिया।

बताते है वह नशे में था।
चिडिय़ाघर प्रभारी उत्तम यादव के अनुसार आज सुबह चिडिय़ाघर में काम करने वाले गार्ड और माली ने बाघ के पिंजरे के पास एक व्यक्ति की संदिग्ध हरकतें देखी। वह लगभग 22 फुट ऊंचे पिंजरे पर चढ गया और अंदर कूदने की कोशिश करने लगा तो कर्मचारियों ने प्रबंधन को वायरलेस पर सूचना दी।

इसके बाद आनन-फानन में उसे काफी मशक्कत के बाद पकडक़र नीचे उतारा गया। यादव का कहना है कि युवक मानसिक रूप से अस्वस्थ दिख रहा था। वह कर्ज और परिवार से परेशान होने की बात कह रहा था। चिडिय़ाघर में वह अकेला ही आया था। युवक का नाम विजय झाला बताया गया है।

पकड़ाने के बाद वह बहकी-बहकी बातें कर रहा था। युवक ने थाने में कहा कि घर की समस्या से परेशान हूं। एक बेटा है जो 10वीं में दो बार फेल गया है। घटना के लिए मैं खुद जिम्मेदार हूं। पिंजरे पर चढ़ने के दौरान टाइगर उसकी तरफ काफी पास तक आ गया था। चिडिय़ाघर कर्मचारियों की सजगता से वह बच गया।


गौरतलब है कि इंदौर चिडिय़ाघर में पहले भी ऐसा एक मामला हो चुका है। एक युवक शेरों के बाड़े में कूद गया था। वह अंदर तक चला गया था। हालांकि उसे सकुशल बाहर निकाल लिया गया। इसी तरह एक बार बाघिन भी पिंजरे से बाहर आ गई थी। उस समय चिडिय़ाघर में अफरा-तफरी का माहौल बन गया था।

Spread the love

10

इंदौर