Category: मप्र चुनाव

दिग्विजय शासन में मुख्यधारा में रहे अफसरों के हाथ में आएगी मप्र की कमान

इंदौर,प्रदीप जोशी। प्रदेश के नए मुख्यमंत्री कमलनाथ ने काम संभालने के साथ अपने तीन वचन पूरे कर दिए। वह भी उस एनेक्सी में बैठकर जिसे शिवराज सिंह चौहान ने बड़े अरमानों से तैयार करवाया था।

सोमवार को कमलनाथ, गहलोत व बघेल लेंगे मुख्यमंत्री पद की शपथ

भोपाल। विस चुनाव में सत्ता में लौटने के बाद सोमवार 17 दिसंबर को तीन राज्यों मध्य प्रदेश राजस्थान छत्तीसगढ़ में कांग्रेस के मुख्यमंत्री अपने अपने राज्यों में शपथ लेंगे। इनमें मध्यप्रद

अंततः विधायक दल ने कमलनाथ को चुना मप्र का मुख्यमंत्री, कोई उपमुख्यमंत्री नहीं होगा, 17 को शपथ

भोपाल।आखिरकार गुरुवार रात प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ को दल की बैठक में मध्य प्रदेश का अगला मुख्यमंत्री चुन लिया गया। बताया गया कि हैं फिलहाल कोई उप मुख्यमंत्री नहीं होगा। आज

इंदौर से तुलसी और जीतू के मंत्री बनने की प्रबल सम्भावना

भोपाल। प्रदेश कांग्रेस की नई सरकार 14 दिसंबर को शपथ लेने जा रही है। जैसी कि पूरी संभावना है, कमलनाथ ही नए मुख्यमंत्री होंगे वहीं उनके मंत्रिमंडल के नाम को लेकर भी कयास शुरू हो गए हैं। इसम

शिवराज ने दिया इस्तीफा, इसके पूर्व क्या बोले देखें वीडियो

भोपाल। पहले खबर आ रही थी कि भाजपा भी सरकार बनाने का दावा कर सकती है लेकिन पार्टी नेताओं के साथ मंथन के पश्चात भाजपा ने तय किया कि वह सरकार नहीं बनाएगी। इसी के चलते बुधवार को शिवराज सिंह

कांग्रेस के बागियों की होगी घर वापसी, कमलनाथ बोले हमारे पास स्पष्ट बहुमत, निगाहे अब राज्यपाल पर

भोपाल। टिकट ना मिलने से नाराज होकर निर्दलीय के रूप में चुनाव लड़कर जीते कांग्रेस के बागियों ने कांग्रेस को समर्थन दे दिया है और इनकी बुधवार को घर वापसी (कांग्रेस में) होगी। इधर प्रदेश

मध्यप्रदेश में बीजेपी भी कर सकती है सरकार का दावा राकेश सिंह का ट्वीट कल राज्यपाल मिलेंगे

भोपाल। एक और जहां कांग्रेस की ओर से कमलनाथ में मध्यप्रदेश में सरकार बनाने का दावा पेश किया है वहीं कांग्रेस के बाद बी जे पी के प्रदेश अध्‍यक्ष राकेश सिंह ने भी सरकार बनाने का दावा करने क

छत्तीसगढ़, राजस्थान मध्यप्रदेश में कांग्रेस का वनवास खत्म, भाजपा से छीनी सत्ता

दिल्ली। राजस्थान और छत्तीसगढ में भाजपा सत्ता से बाहर हो गयी है और मप्र भी उसके हाथ से लगभग निकल गया है। इन तीनों राज्यों में कांग्रेस ने शानदार वापसी करते हुए अपना वनवास खत्म किया है।