Category: धर्म ज्योतिष

13 अप्रैल मंगलवार से शुरू हो रहे चैत्र नवरात्र, 21 तक चलेंगे, महाष्टमी पूजन 20 को होगा, जानिए घट स्थापना के मुहूर्त

13 अप्रैल मंगलवार से शुरू हो रहे चैत्र नवरात्र, 21 तक चलेंगे। वासंतिक (चैत्र) नवरात्रि पर्व एवं आनन्द नामक शुभ विक्रम संवत् 2078 की सभी को मंगल कामना।

हिन्दु नववर्ष,

गुरुदेव बृहस्पति छह अप्रैल को मकर राशि से कुंभ राशि में करेंगे प्रवेश, जानिए आपकी राशि पर क्या होगा असर

6 अप्रैल,2021 मंगलवार के दिन शाम 6:01 पर अपना गोचर करते हुए मकर राशि से कुंभ राशि में प्रवेश कर जाएंगे। जो इस अवस्था में 15 सितंबर बुधवार तक रहेंगे और फिर अपनी वक्री गति शुरू करते हुए प्रातः क

आज होली पर ये कर लीजिए ये उपाय…पूरे साल भर रहेंगे सुखी

गुरु गणेश के इन उपायों को कर लिया तो पूरे साल रहेंगे सुखी
होलिका दहन के दिन मनुष्य अपनी दरिद्रता को नष्ट कर सुख-शांति-समृद्धि में वृद्धि कर सकता है। आपको सिर्फ इ

21 फरवरी से शुक्र ने मकर से निकलकर कुम्भ राशि मे किया परिवर्तन, जानिए आपकी राशि पर इसका क्या होगा प्रभाव, क्या करे उपाय

शुक्र ग्रह ने एक दिन पहले 21 फरवरी 2021 को मकर राशि से निकलकर कुंभ राशि में प्रवेश कर लिया है। शुक्र का यह राशि परिवर्तन रविवार को करीब 02: 19 बजे हुआ l ज्योतिष के अनुसार शुक्र के इस राशि परिवर

वृन्दावन में श्री प्रियाकान्त जु का पंचम पाटोत्सव, श्री देवीकानंदन ठाकुर जी महाराज के मुखारबिंद से श्रीभागवत कथा का आयोजन

श्री प्रियाकान्त जु के पंचम पाटोत्सव के पावन अवसर पर विश्व शांति सेवा चैरिटेबल ट्रस्ट के तत्वावधान में दिनांक 5 से 12 फरव

कैसे करें भोजन द्वारा अपने कमजोर ग्रहों को मजबूत…

रत्नों को पहनने आ अन्य उपायों के साथ साथ हम अपने आहार द्वारा भी ग्रहों को बल दे सकते हैं जैसे:-

सूर्य :- सूर्य अगर मजबूत हो तो हमें मान- सम्मान, सुख-समृध्धि म

अगर टालनी हो अकाल मृत्यु, तो करें ये उपाय, मिलेगा लाभ..

कहा जाता है कि जो भी मनुष्य इस धरती पर जन्म लेता है उसकी मृत्यु अवश्य होती है और इसीलिए धरती को मृत्यु लोक भी कहते है। मतलब जैसे जन्म का विधान है ठीक उसी तरह मौत का भी विधान बना हुआ है और

सोमवती अमावस्या 14 दिसम्बर को वर्ष का अन्तिम खग्रास सूर्यग्रहण,भारत मे कोई प्रभाव नही, न सूतक लगेगा न मन्दिर के पट ही बंद होंगे

वर्ष 2020 का अंतिम व वर्ष का दूसरा सूर्य ग्रहण सोमवती अमावस्या को 57 वर्षों के बाद विशेष ग्रह युति के साथ घटित होगा। मार्गशीर्ष कृष्ण पक्ष की सोमवती अमावस्या को भारत


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/tezsamachar/public_html/wp-includes/functions.php on line 4757

Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/tezsamachar/public_html/wp-content/plugins/really-simple-ssl/class-mixed-content-fixer.php on line 110