Jul 20 2019 /
12:50 PM

छेड़छाड़ मामले में नाना पाटेकर को क्लीन चिट मिलने से निराश हैं तनुश्री, अब PM मोदी से मांगा जवाब

बॉलीवुड एक्टर नाना पाटेकर को छेड़छाड़ मामले में मुंबई पुलिस की ओर से क्लीन चिट देने से एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता काफी निराश है। तनुश्री ने पुलिस को सबूतों को तोड़-मरोड़कर पेश का आरोप लगया है।

साथ थी उन्होंने मुंबई पुलिस और कानून व्यवस्था को भ्रष्ट बताया था। पुलिस और कानून व्यवस्था को भ्रष्ट बनाते के बाद तनुश्री दत्ता ने अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरते हुए उनसे आरोपियों को सजा देने की मांग की है।

दरअसल नाना पाटेकर को क्लीन चिट मिल जाने के बाद तनुश्री दत्ता लगातार पुलिस और कानून व्यवस्था को कोस रही हैं। साथ ही आरोप लगा रही हैं कि उनके केस में पुलिस ने सबूतों को तोड़-मरोड़कर पेश किया है। मीडिया में चल रही खबरों की मानें तो अब उन्होंने कहा है कि नाना पाटेकर के मामले में मुंबई पुलिस ने मुझसे झूठ बोल रही है कि सिंटा (CINTAA) के साथ की गई मेरी शिकायत में मैंने सेक्सुअल हरासमेंट की बात का जिक्र नहीं किया था। जबकि 2008 में मैंने सिंटा को अपनी शिकायत पत्र की कॉपी सेक्सुअल हरासमेंट की बात का जिक्र किया गया था। इस शिकायत पत्र को 2018 की मेरी FIR में भी जोड़ा गया था।’

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार तनुश्री दत्ता ने सिस्टम पर अपना गुस्सा जाहिर करते हुए कहा कि, ‘सबूतों को कैसे तोड़-मरोड़ कर आरोपियों को बचा गया। पुलिस ने शुरू से ही आरोपियों से मिली हुई थी, जब पुलिस ने हमसे कहा कि हमारा केस बहुत मजबूत है आप सारे सबूत ले आइए हम उन्हें जल्द से जल्द गिरफ्तार कर लेंगे। अब उन्होंने आरोपियों की गिरफ्तारी न करने के बजाए हमारी ही पीठ में छुरा घोंपा और मेरी शिकायत को फर्जी बता दिया। इससे पता यह भ्रष्टाचार की हद हो गई है।

अपनी बात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरते हुए तनुश्री दत्ता ने कहा, ‘मोदी जी,भ्रष्टाचार मुक्त भारत की बात करते हैं, क्या हुआ इसका? एक व्यक्ति देश की बेटी का शौषण करता है, भीड़ खुलेआम हमला करती है, हर बार न्याय नहीं मिलता, झूठा ठहराया जाता है। उसे धमकाया जाता है और दबाव बनाया जाता है, करियर खत्म कर दिया जाता है। उसे मजबूर होकर दूसरे देश में जाकर गुमनामी की जिंदगी जीनी पड़ती है। और पुलिस कहती है कि शिकायत फर्जी है! यही है आपका राम राज्य?’

Spread the love

इंदौर