Aug 18 2022 / 7:18 AM

इस समुदाय की लड़कियों को शादी से पहले बनना पड़ता है मां

हमारे समाज में लड़कियों का शादी से पहले मां बनना अच्छा नही माना जाता और लोग इसे अच्छी नजर से नही देखते लेकिन पश्चिमी बंगाल के जलपाईगुडी में टोटोपडा कस्बे में रहने वाली टोटो जनजाति ऐसी हैं जहां लड़कियों के मां बनने के बाद उनकी शादी करवायी जाती है।

टोटो जनजाति में लड़कियां पहले मां बनती है और उसके बाद बीवी। लेकिन ये यहां की परंपरा है और लोग इसे बखूबी मानते भी हैं। जितना अलग यहां के लोगों का खान-पान और व्यवहार है उतना ही अंतर यहां की परंपराओं में भी है।

दरअसल इस जनजाति के रिवाज के मुताबिक लड़का अपनी पसंद की लड़की को भगा ले जाता है, जिसका कोई बुरा भी नहीं मानता। इसके बाद लड़की लड़के के घर में एक साल तक रहती है। इस दौरान अगर लड़की गर्भ धारण कर लेती है तो ही उसे विवाह योग्य समझा जाता है। इसके बाद लड़का-लड़की अपने घरवालों की मर्जी से शादी के बंधन में बंध जाते हैं। जितने अजीब यहां शादी करने के नियम हैं उतना ही मुश्किल यहां शादी तोडना भी है।

इस समुदाय में शादी तोडऩे के नियम बेहद खर्चीले हैं, जिससे कोई शादी तोडने से पहले दो बार सोचे। शादी तोडने में शादी करने से भी ज्यादा खर्च आता है, जिससे लोग काफी डरे रहते हैं। अगर कोई लड़का या लड़की शादी तोडना चाहते हैं तो विशेष महापूजा का आयोजन करना पड़ता है। जो बहुत खर्चीली होती है। इसी कारण यहां तलाक के अधिक मामले नहीं देखे जाते।

Share with

INDORE