Aug 09 2022 / 1:43 PM

रूस-यूक्रेन युद्ध से LIC IPO को टाल सकती है सरकार

नई दिल्ली। रूस-यूक्रेन के बीच युद्ध का वैश्विक वित्तीय बाजारों पर असर पड़ने से सरकार एलआईसी के मेगा आईपीओ को स्थगित कर सकती है। सूत्रों का कहना है कि सरकार बीमा कंपनी में अपनी हिस्सेदारी का अधिकतम मूल्य प्राप्त करने के लिए उपयुक्त समय की प्रतीक्षा कर सकती है।

एक सरकारी सूत्र ने कहा, यह अब पूरी तरह से युद्ध है इसलिए हमें एलआईसी आईपीओ के साथ आगे बढ़ने के लिए स्थिति का आकलन करना होगा। हो सकता है सरकार इसे अगले वित्त वर्ष के लिए टाल दे। आईपीओ के इसी महीने बाजार में आने की उम्मीद थी।

यूक्रेन की राजधानी कीव और अन्य बड़े शहरों में लड़ाई तेज होने के साथ रूस-यूक्रेन युद्ध बुधवार को सातवें दिन भी जारी रहा। सरकार चालू वित्त वर्ष में 78,000 करोड़ रुपये के विनिवेश लक्ष्य को पूरा करने के लिए जीवन बीमा फर्म में 5 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचकर 63,000 करोड़ रुपये जुटाने की उम्मीद कर रही थी।

अगर आईपीओ को अगले वित्त वर्ष के लिए टाल दिया जाता है, तो सरकार संशोधित विनिवेश लक्ष्य से भारी अंतर से चूक जाएगी। इस वित्त वर्ष में अब तक सरकार सीपीएसई के विनिवेश और एयर इंडिया की रणनीतिक बिक्री के जरिए 12,030 करोड़ रुपये जुटा चुकी है। सरकार ने पहले 2021-22 के दौरान विनिवेश से 1.75 लाख रुपये जुटाने का अनुमान लगाया था।

Share with

INDORE