रेलवे की समीक्षा बैठक में 16 में से मात्र 3 सांसद पहुंचे

  • जमीन अधिग्रहण की धीमी प्रक्रिया से इंदौर खंडवा रेल लाइन प्रोजेक्ट हुआ लेट
  • दिसंबर तक फतेहाबाद उज्जैन ब्रॉड गेज पूरा होने की उम्मीद।

इंदौर। बुधवार को इंदौर में पश्चिम रेल मंडल के अंतर्गत आने वाले रतलाम रेल मंडल के सांसदों की वार्षिक बैठक ब्रिलियंट कान्वेंट सेंटर में आयोजित की गई। हालांकि इस बैठक में रेल परियोजनाओं की समीक्षा करने के लिए 16 में से केवल 3 सांसद ही पहुंचे।

बाकी ने अपने अपने प्रतिनिधि भेज दिए। इस दौरान महू सनावद रेल लाइन को हेरिटेज रेल लाइन के रूप में विकसित करने पर बात हुई वही यह जानकारी सामने आई कि इंदौर खंडवा रेल मार्ग को ब्रॉड गेज करने में वन विभाग जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया पूर्ण करने में देरी की जा रही है।

इसी तरह फतेहाबाद-उज्जैन रेल मार्ग दिसंबर तक पूर्ण करने की उम्मीद सांसदों द्वारा जताई गई है। वही सांसद कांतिलाल भूरिया ने रेल परियोजना मैं लेट लतीफी की शिकायत रेलवे जीएम से की है।

पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक अनिल कुमार गुप्ता ने बताया कि इंदौर के आसपास चल रही रेल परियोजनाओं का कार्य तीव्र गति से चल रहा है लेकिन इंदौर खंडवा रेल मार्ग पर जमीन अधिग्रहण हेतु वन विभाग द्वारा देरी की जा रही है जिसके कारण प्रोजेक्ट लेट हो रहा है। महू से सनावद के बीच पहाड़ी रास्ते में मैं टनल और बड़े ब्रिज बनाए जाने हैं अगर जमीन हमें  जल्दी मिल जाती है तो काम तेज गति से होगा।

बैठक का भी समय नही!

रेल सुविधाओं को लेकर पिछड़ने की शिकायतें तो लगातार जनप्रतिनिधियों द्वारा की जाती है लेकिन इन्हीं मुद्दों पर आयोजित बैठक में सांसदों की संख्या एक चौथाई भी नहीं रही, जिससे यह पता चलता है कि मालवा में रेल परियोजनाओं को लेकर सांसद कितने गंभीर हैं। सवाल यह है कि वे क्या इतने बिजी हैं कि इतनी महत्वपूर्ण बैठक में शामिल होने का समय भी नही है?

Spread the love

इंदौर