Aug 21 2019 /
11:03 AM

इंदौर में क्राईम ब्राँच व पुलिस अधिकारी बनकर स्पा सेंटर पर फ़र्ज़ी दबिश देकर वसूली करने वाली गैंग रंगे हाथों पकड़ाई, महिला सहित 7 गिरफ्तार

इंदौर। इंदौर में क्राईम ब्राँच व पुलिस अधिकारी बनकर शहर में संचालित स्पा सेंटर पर फ़र्ज़ी दबिश देकर वसूली करने वाली गैंग रंगे हाथों पकड़ाई है। क्राइम ब्रांच ने गिरोह में शामिल महिला सहित 7 को गिरफ्तार किया है। कुछ आरोपी खुद को मीडियाकर्मी भी बताते थे।

इनके द्वारा कनाडिया , लसूडिया, हीरानगर, खजराना व गंगवाल बस स्टेंड के पास फ़र्ज़ी दबिश देकर लाखों रुपये की वसूली की बात सामने आई है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्रीमती रूचिवर्धन मिश्र, पुलिस अधीक्षक (मुख्यालय) सूरज वर्मा के निर्देशन मे अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक क्राईम ब्रांच अमरेन्द्र सिंह व टीम ने इन्हें पकड़ा।

पकड़े गए आरोपियों के नाम रेखा सोलंकी पति राजेश सोलंकी उम्र 38 साल नि. 835 स्कीम नं 114 इन्दौर, कमलेश पिता करण भार्गव उम्र 30 साल नि. 249 रघुनंदन बाग स्किम नं 78 पार्ट 2 इन्दौर, सागर सोलंकी पिता राजेश सोलंकी उम्र 18 साल नि. स्किम नं 114 इन्दौर, निर्मल रोकडे पिता भगवान रोकडे उम्र 24 साल नि. वक्रतुंड नगर इन्दौर, अमन पिता करण सिंह मौर्य उम्र 23 साल नि. 102 रुस्तम का बगीचा मालवा मील इन्दौर, देवेन्द्र पारिक पिता स्व. ब्रजभूषण पारीक उम्र 49 साल नि. 813 राजीव आवास विहार स्किम नं 114 इन्दौर और अभय द्विवेदी पिता शिवनायक द्विवेदी उम्र 38 साल नि. फतेहपुर उत्तरप्रदेश है।

एएसपी क्राइम अमरेंद्र सिंह ने बताया कि इस मामले में एक महिला ने शिकायत की थी कि वह गोल्डन लाईफ फैमिली सैलून नाम से सैलून स्पा सेंटर चलाती है। उसका सैलून अंकुर एनेक्स अपार्टमेंट सत्यसाईं चौराहे के पास प्रथम तल पर है। दिनांक 07 अगस्त को शाम के करीब 04 से 4.30 बदे के आसपास उसके सैलून पर एक महिला तथा 6 आदमी जबरन घुस आये तथा बोले कि हम लोग क्राईम ब्राँच के अधिकारी हैं, तुम्हारे यहाँ गलत काम होता है, तुम सेक्स रैकेट चलाती हो।

जब हमने उनसे आईडी कार्ड मांगा तो उन्होने मुझे तथा मेरे स्टाफ को चांटे मारे तथा हमें डराया धमकाया कि हम तुम्हारे उपर केस बना देंगे। अगर तुम केस नही बनवाना चाहते हो तो हमे 50,000 रुपये दो। हमने उनसे डर के 25 हजार रुपये दे दिये उसके बाद वहीं आफिस मे उनका वीडियो बना लिया ।

इस तरह पकड़ा

उक्त शिकायत पर पुलिस ने आरोपीगण को रंगे हाथ पकडने के लिये जाल बिछाया गया। फरियादीया महिला ने आरोपी रेखा सोलंकी को बोला कि मेरे स्पा सेंटर के नीचे आकर पैसे ले जाओ। इस पर रेखा ने अपने बेटे सागर सोलंकी व एक अन्य अभय द्विवेदी को वहां भेजा। जैसे ही वह दोनो स्पा सेंटर आये तथा फरियादीया से 25000 रुपये लिये वैसे ही क्राईम ब्राँच की टीम ने आरोपीगणों को रंगे हाथों धरदबोचा पूछताछ के दौरान इन्होंने बताया कि रेखा सोलंकी ने उन्हे पैसे लेने के लिये पहुंचाया था।

जब पुलिस ने उनसे गैंग के बाकी सदस्यों के बारे मे पूछा तो उनके द्वारा बताया गया कि बाकी लोग रेखा सोलंकी के कबीट खेडी स्थित आफिस पर हैं। इसके बाद क्राईम ब्रांच की टीम ने जब उक्त आफिस पर दबिश दी तो वहां गैंग की सरगना रेखा सहित अन्य आरोपी भी मिल गए।

एएसपी चौहान ने बताया कि आरोपियों ने स्वीकार किया कि इन लोगो के द्वारा नकली क्राईम ब्राँच अधिकारी बनकर दबिश दी थी। विजयनगर थाने पर इन आरोपियों के विरुद्ध धारा 419 420 384 386 भादवि दर्ज किया गया तथा आरोपीगण के कब्जे से कुल 18000 रुपये जप्त किये गए।

तरीका ए वारदात

आरोपीया रेखा सोलंकी पति राजेश सोलंकी उम्र 38 साल नि. 835 स्किम नं 114 इन्दौर ने बताया कि उसके द्वारा स्पा सेंटरो की रैकी की जाती थी फिर वह स्पा सेंटर पर उसके यहाँ काम करने वाले लड़के को भेजती थी जैसे ही वह लड़का मसाज कराने जाता था रेखा सोलंकी अपनी टीम के सदस्यों के साथ वहाँ दबिश देकर स्वयं तथा अपनी गैंग को क्राईम ब्रांच का सदस्य बताकर स्पा सेंटर की संचालिका को डराते थे तथा उनसे मोटी रकम वसूलते थे। आरोपीया ने बताया कि विगत तीन चार माह से वह एसा काम कर रही है ।

इससे पहले उसकी गैंग द्वारा कनाडिया , लसूडिया , लिंबोदी व गंगवाल बस स्टेंड मे भी नकली क्राईम ब्राँच अधिकारी बनकर दबिश दी गयी थी तथा लाखो रुपये अवैध रुप से वसूले गये थे । आरोपी रेखा 12 वी तक पढ़ी है। वह तथा गैंग के कुछ सदस्य खुद की मीडिया से जुड़े होने की बात भी कह रहे है।

Spread the love

इंदौर