Jan 23 2019 /
11:36 PM

इंदौर में पत्नी के मायके जाने से नाराज पति जान देने जा रहा था, संजीवनी हेल्पलाइन ने बचाई जान।

इंदौर। इंदौर में पत्नी के मायके जाने से नाराज एक पति जान देने जा रहा था, पुलिस द्वारा संचालित ‘संजीवनी एक कदम जीवन की ओर’ नामक हेल्पलाइन टीम ने उसकी जान बचाई।

DIG हरिनारायणाचारी मिश्र (शहर) इंदौर के निर्देशन मे इंदौर पुलिस द्वारा संचालित “ संजीवनी “- एक कदम जीवन की ओर, हेल्पलाईन द्वारा नकारात्मक विचारों से ग्रसित होकर जीवन से हताश एवं परेशान लोगो की मनोचिकित्सकों की सहायता से काउंसलिंग कराई जाकर उनको नकारात्मक विचारो से उबारने हेतु हरसंभव प्रयास किये जा रहे हैं।

 

ऐसे ही एक मामले में ट्रेन के सामने कूदकर आत्महत्या करने जा रहे युवक के संबंध में संजीवनी हेल्पलाईन पर सूचना प्राप्त होने पर त्वरित कार्यवाही करते हुये टीम द्वारा मौके पर पहुँचकर युवक की जान बचाने में सफलता मिली।

 

घटना का संक्षिप्त विवरण इस प्रकार है कि संजीवनी हेल्पलाईन के नंबर -7049108080 पर फोन पर सूचना प्राप्त हुई थी कि शेखर पटेल (परिवर्तित नाम) उम्र 29 साल निवासी चंदन नगर इंदौर, आत्महत्या करने जा रहा है जो जाते जाते ट्रेन के सामने कूदकर जान देने की बात कहकर गया है।

सूचना पर संजीवनी हेल्पलाईन द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए शेखर से संपर्क कर काफी समझाईश के बाद उसे रोकने में सफल हुई। उसने पूछताछ में बताया कि वह इन्दौर की एक फूड डिलेवरी कम्पनी मे जॉब करता है। शेखर ने बताया कि 5 वर्ष पूर्व उसकी शादी सुनीता (परिवर्तित नाम) नामक युवती से हुई थी किंतु शादी के दो वर्षों तक दोनों का वैवाहिक जीवन सुखद गुजरने के उपरांत उनके मध्य परस्पर छोटी छोटी बातों पर लड़ाई झगड़ा होने लगा था।

इसी दरमियान उन दोनों के मध्य मनमुटाव बढ़ जाने से शेखर की पत्नी मायके चली गई थी जिसके चलते वह काफी परेशान हो गया था और अवसादग्रस्त हो जाने के कारण शेखर ने अपनी जीवन लीला को समाप्त करने का मन बना लिया था एवं ट्रेन के सामने पटरी पर कूदकर अपनी जान देने का मन बना लिया था।

संजीवनी हेल्पलाईन द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए शेखर को आत्महत्या करने से रोका गया तथा शेखर व उसकी पत्नी को संजीवनी के परामर्श कार्यालय में लाया गया जहां मनोचिकित्सक विशेषज्ञों की सहायता से अवसाद को दूर कर खुशहाल जीवनयापन करने के लिये कॉउंसलिग कराई गई, जिसके परिणास्वरूप शेखर और उनकी पत्नी सामान्य स्थिति में खुशहाली से वैवाहिक जीवन व्यतीत कर रहे हैं।

पुलिस अधीक्षक मुख्यालय यूसुफ कुरैशी के मार्गदर्शन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक क्राईम ब्रांच अमरेन्द्र सिंह के नेतृत्व में यह हेल्प लाइन चलाई जा रही है। ASP अमरेंद्र सिंह ने जनसामान्य से यह अपील की है कि ऐसे किसी भी अवसादग्रस्त व्यक्ति के संबंध मे जानकारी प्राप्त होने पर, जोकि आत्महत्या जैसे विचार मन मे लाता है

या अन्य किसी प्रकार के अवसाद से ग्रसित है तो इसकी सूचना इंदौर पुलिस द्वारा संचालित की जा रही संजीवनी हेल्पलाईन के मोबाईल नंबर 7049108080 पर दें ताकि ऐसे निराशावादी हताश तथा जीवन समाप्त करने का मन बना चुके लोगों को विषेशज्ञों द्वारा उचित परामर्श मुहैया कराई जाकर आत्महत्या करने से रोका जा सके।

Spread the love

इंदौर