भैय्यू महाराज की खुदकुशी के पीछे पारिवारिक नहीं कुछ और कारण की आशंका

इंदौर। राष्ट्र संत भैय्यू महाराज की खुदकुशी मामले में एक सप्ताह पूरा हो जाने के बाद भी रहस्य की परतें खुल नहीं पा रही है। इस मामले को पूरी तौर पर पुलिस पारिवारिक विवाद के चलते खुदकुशी का मामला बताने की जुगत में है, लेकिन अनेक ऐसे सवाल है जिसमें यह बात गले नहीं उतरती कि अध्यात्म से इतने गहरे तक जुड़ा व्यक्ति महज पारिवारिक विवद के चलते खुदकुशी कर ले। इसमें कुछ और ही कारण होने की आशंका को नकारा नहीं जा सकता।

गत मंगलवार 11 जून को भैय्यू महाराज ने सिल्वर स्प्रिंग कालोनी स्थित अपने मकान में खुद को गोली मारकर खुदकुशी कर ली थी। तब से अभी तक पुलिस मर्ग कायम कर इस बात की विवेचना में जुटी है कि आखिर ऐसा क्या कारण रहा जिससे प्रताडि़त या दुखी होकर उन्होंने जान दी। अभी तक उनके परिवार के लोगों के अलावा सेवादारों व अन्य निकटवर्ती लोगों के जो बयान हुए उसमें मूल रुप से भैय्यू महाराज की पुत्री कुहू व दूसरी पत्नी डा. आयुषी के मध्य विवाद की बात सामने आई है।

इस आधार पर यह माना जा रहा है कि इस वजह से भैय्यू महाराज बहुत परेशान रहते थे ओर उन्होंने खुदकुशी कर ली। लेकिन भैय्यू महाराज को जानने वालों का मानना है कि महज इस विवाद के चलते वे खुदकुशी नहीं कर सकते। इसका बड़ा कारण यह है कि भले ही कुहू और डा. आयुषी में नहीं बनती थी, विवाद था, लेकिन कुहू इसके पहले पूणे में रह कर पढ़ाई कर रही थी और आगे की पढ़ाई के लिए लंदन जा रही थी। वहां पर उसे कम से कम तीन से चार साल रहना पड़ता। ऐसे में जब कुहू व डा. आयुषी के साथ साथ रहने की स्थिति ही नहीं थी तो फिर ऐसे क्या हालात हो गए कि भैय्यू महाराज को खुदकुशी करना पड़ी? जानकारों का मानना है कि उनकी खुदकुशी के पीछे पारिवारिक विवाद की बजाय अन्य कारण हो सकता है जिसमें उन्हें अपनी पद प्रतिष्ठा से लेकर अन्य तरह का डर सता रहा हो जिसके चलते उन्होंने खुदकुशी की। वह कारण क्या है, यह पुलिस विवेचना का विषय हो सकता है।

Spread the love

इंदौर