‘दादा की मदद से कबाड़ी के बेटा IIT की सीढ़ी चढ़ा…..’

इंदौर। इंदौर के श्रमिक बस्ती में जन्मे एक होनहार युवक के पिता कबाड़े का ठेला लगाते है, माँ घरों में काम करती है। उसने अपनी लगन और मेहनत से IT में मुकाम हासिल करने की पहली सीढ़ी पार कर ली। उसका ना केवल IIT GEE में सिलेक्शन ही गया बल्कि कानपुर के IIT कालेज में एडमिशन भी हो गया है। उसे इस मुकाम तक पहुचाने में दादा दयालु के नाम से विख्यात बीजेपी के विधायक रमेश मेंदोला का महत्वपूर्ण योगदान है। अजा वर्ग का उक्त छात्र राहुल बरेलिया है, जिसके पिता पप्पू भैया कबाड़े का ठेला लगाते है और माता अनिता दीदी घरों में साफ सफाई का काम करती है। आईआईटी कानपुर में सीएस ब्रांच में सिलेक्ट होकर आईटी इंजीनियर बनने की पहली सीढ़ी चढ़ चुका है।

इंदौर के जगजीवनराम नगर में रहने वाले राहुल बरेलिया को लगभग साल भर पहले नंदानगर के मेधावी शिक्षक लक्ष्मीनारायण बकोरिया एक 16-17 साल के लड़के को लेकर विधायक मेंदोला से मिलने आए थे। उन्होंने कहा कि दादा राहुल बहुत गरीब परिवार से है लेकिन बहुत प्रतिभाशाली है। यदि इसका एडमिशन सही कोचिंग में हो जाए तो ये आईआईटी में जा सकता है। साधारण से कपड़े और स्लीपर चप्पल में आया राहुल अपने साथ 12वी की मार्कशीट और सरकार से मिली छात्रवृत्ति के कागज भी लाया था। मेंदोला ने उससे पूछा कि IIT में जाने के लिए सिर्फ कोचिंग काफी नहीं है कड़ी मेहनत करनी पड़ती है, कर सकोगे? इस पर उसने कहा दादा मैं जी -जान लगा दूंगा। उसके साथ आए शिक्षक लक्ष्मीनारायण जी ने भी उसकी बात का समर्थन किया। दादा को राहुल की आँखों में एक चमक दिखाई दी। उसकी छुपी प्रतिभा को पहचानकर उन्होंने एक बड़ी कोचिंग क्लास में बात करके उसका एडमिशन करवा दिया।

खुशी के आंसू बह निकले

एक दिन पूर्व जब राहुल विधायक मेंदोला से मिलने आया तो उसकी आंखों में सफलता की चमक भी थी खुशी के आंसू भी थे। मेंदोला के पैर छूकर उसने कहा कि दादा IIT JEE में पूरे देश में मेरी 400 वी रैंकिंग बनी है, देश के सबसे प्रतिष्ठित कानपुर IIT में मुझे कंप्यूटर साइंस ब्रांच मिल गई है और इसका श्रेय आपको है। ये कहकर राहुल की आंखे भर आईं और सिर्फ नमी सिर्फ राहुल की आंखों में नहीं थी वहां मौजूद हर शख्स की आंखे नम हो रही थी। राहुल के पिता पप्पू भैया मेंदोला के पैर छूने लगे तो उन्होंने गले से लगा लिया। वो बोले कि दादा आपने मेरे बेटे का सपना पूरा कर दिया। मैं अटाला बेचता हूँ पर आपकी सहायता से मेरा बेटा बड़ा काम करेगा। इंदौर का नाम रोशन करेगा।

तुरन्त लेपटॉप दिलवाया

मेंदोला ने राहुल व उसके माता पिता का पुष्पहार पहना कर स्वागत किया और राहुल से पूछा कि तुम कंप्यूटर साइंस में बीटेक करोगे तो तुम्हारे पास लैपटॉप है या नहीं। ये सुन राहुल नीचे देखने लगा। मेंदोला ने तत्काल उसके लिए लैपटॉप बुलवाया और लैपटॉप के अलावा पहले सेमेस्टर की फीस के लिए 25 हजार की सहायता राशि अपनी तरफ़ से दी। इस दौरान बीजेपी नेता चंदू शिंदे, सुमित मिश्रा आदि ने भी छात्र के उज्ज्वल भविष्य की कामना की।

Spread the love

इंदौर