पैसा दोगुना करने का लालच देकर फरार, कम्पनी पर EOW ने दर्ज किया केस

इंदौर। निवेश का पैसा एक साल में दुगना करने का लालच देने वाली एक मल्टीलेवल मार्केटिंग क्षेत्र में काम करने वाली इंदौर की कंपनी योडलाई ट्रेडकॉम प्रालि के संचालकों के खिलाफ आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ (EOW) ने केस दर्ज किया है।

कंपनी के संचालक निवेशकों के लाखों रुपए लेकर फरार हो गए हैं जिनकी तलाश की जा रही है। जानकारी के अनुसार येडलाई ट्रेडकॉम प्रालि इंदौर के संचालक हनुमान कुमावत और पंकज गंगोले के खिलाफ धोखाधड़ी के आरोप में एफआईआर दर्ज की गई है।

यह कंपनी अपने एजेंटों के माध्यम से आम जनता से साल 2010 से कई फर्जी स्कीमों में लाखों रुपए का निवेश करा चुकी है। कंपनी द्वारा निवेश के लिए आम जनता को 5500 रुपए में सदस्य बनाया जाता था।

सदस्य बनने वाले निवेशकों को सियाराम कंपनी का एक सूट का कपड़ा देने के साथ ही 200 रुपए प्रतिमाह की निश्चित आय प्राप्त होती थी।

इसके बाद 7000 रुपए या 7500 रुपए की एफडी (फिक्स डिपोजिट) कराने पर सदस्यों को 36 माह तक 600 रुपए प्रतिमाह भुगतान करने का लालच कंपनी द्वारा दिया जाता था।

सदस्य निवेशकों द्वारा अन्य लोगों को कंपनी से जोड़ने पर प्रति सदस्य 400 रुपए भी दिए जाते थे। इसके अलावा कंपनी एक साल में पैसा दोगुना करने का लालच भी देती थी।

इसके तहत एक लाख रुपए से अधिक की एफडी कराने पर एक साल बाद दोगुनी राशि देने का लालच दिया जाता था।

लालच में आकर कई निवेशकों ने कंपनी की इस योजना में लाखों रुपए का निवेश कर दिया। कंपनी ने इंदौर और आसपास के लोगों से स्कीम में 17 लाख रुपए का निवेश कराया है।

पुलिस का कहना है कि 17 लाख रुपए की राशि प्रारंभिक जांच के बाद सामने अाई है। विस्तृत जांच के बाद यह राशि काफी अधिक होने की संभावना है।

फिलहाल कंपनी के संचालक ऑफिस बंद कर फरार हो गए है। आरोपियों के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 409, 420, 120बी के तहत आपराधिक प्रकरण दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।

Spread the love

10

इंदौर